ताज़ा खबर
 

हरियाणा: सीएम खट्टर ने IAS बनाने के लिए भेजा अपने पीएस की पत्नी और मंत्री की बेटी का नाम

जनवरी में हरियाणा सरकार ने नॉन हरियाणा सिविल सर्विस ऑफिसर्स से आईएएस की एक पोस्ट के लिए आवेदन मांगा था।
Author July 5, 2016 10:37 am
हरियाणा में मनोहर लाल खट्टर की अगुआई में बीजेपी की सरकार है। (FILE Photo- PTI)

हरियाणा के सीनियर ब्यूरोक्रेट की पत्नी और स्टेट कैबिनेट मंत्री की बेटी का नाम उन पांच नामों में शामिल है, जो राज्य सरकार ने यूपीएससी को आईएएस के एक पद पर सलेक्शन के लिए भेजा है। इस लिस्ट को मंजूरी मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने दी है। हालांकि, इस पर फैसला यूपीएससी को ही करना है। यह वह पद है जिस पर राज्य सरकार की सिफारिश पर नॉन स्टेट सिविल सर्विस के अधिकारियों को आईएएस बना दिया जाता है।

एक सीनियर ऑफिसर के मुताबिक आईएएस के पद पर तीन तरह से सलेक्शन होता है। पहला यूपीएससी की डायरेक्ट भर्ती के जरिए, राज्य सेवा में प्रमोशन पाकर, कई बार नॉन स्टेस सर्विस ऑफिसर्स का राज्य सरकार की सिफारिश पर सलेक्शन हो सकता है।

Read Also:  बैठक में रोए सीएम खट्टर, कहा- जाट आंदोलन ने दिला दी बंटवारे की याद, मंत्री ने पूछा- दो जाटों को क्‍यों दे रखे हैं 18 मंत्रालय?

हरियाणा सरकार की लिस्ट में डॉ. सोनिया त्रिखा शामिल हैं, जो कि अभी पंचकुला में स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर में डायरेक्टर की जिम्मेदारी निभा रही हैं। त्रिखा सीएम कट्टर के प्रिंसिपल सेक्रेट्री आरके खुल्लर की पत्नी हैंम। उनके पास मेडिकल एजुकेशन में मास्टर डिग्री है और पहले यूनिसेफ में हेल्थ स्पेशलिस्ट के तौर पर कार्यरत थीं। इसके अलावा उन्होंने स्टेट एड्स कंट्रोल सोसाइटी, चंडीगढ़ के साथ भी बतौर प्रोजेक्टर डायरेक्टर जुड़ी रही हैं।

दूसरी उम्मीदवार हरियाणा के शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा की बेटी डॉ. आशा शर्मा हैं। अभी वे चंडीगड़ में एमएलए होस्टल डिस्पेंसरी में कार्यरत हैं। उनके पति डॉ. प्रशांत शर्मा की पिछले साल मौत हो गई थी। आशा शर्मा के पास एमबीबीएस की डिग्री है और उन्हें 20 साल का अनुभव है।

Read Also: CM खट्टर के करीबी जवाहर यादव बोले- JNU में देशद्रोही नारे लगाने वाली महिलाओं से वेश्‍या बेहतर

डॉ. त्रिखा और डॉ. शर्मा इस रेस में सबसे आगे हैं। इनके अलावा लिस्ट में डॉ. राकेश तलवार शामिल हैं, जो कि अभी हरियाणा राजभवन में सीनियर मेडिकल ऑफिसर के तौर पर कार्यरत हैं। तलवार हरियाणा और पंजाब के राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी के साथ सफर करते हैं। इनके अलावा इस रेस में सीनियर टॉउन प्लानर गुरमीत कौर और एक्साइज एंड टैक्स डिपार्टमेंट में कार्यरत परमेश्वर मेहरा भी है।

जनवरी में राज्य सरकार ने नॉन हरियाणा सिविल सर्विस ऑफिसर्स से आईएएस की एक पोस्ट के लिए आवेदन मांगा था। 16 लोगों ने इसके लिए एप्लाई किया था, जिसमें से पांच लोगों शॉर्टलिस्ट किया गया था। अब इन पांचों को यूपीएससी के सामने इंटरव्यू से गुजरना होगा।

Read Also: Audio: सीएम खट्टर ने कहा- देश में रहना है, तो बीफ छोड़ना होगा, इसे नहीं खाएंगे तो मुसलमान नहीं रहेंगे क्‍या?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. B
    Bharat
    Aug 26, 2016 at 4:25 pm
    -ऐसे कैसे देसवा चलउबा, आई.ए.एस. भरती करउबा। हाफ पैंट वनका पहिरउबा, तबै मार्च पास्ट करउबा।सूदवन क लंका भेजउबा.....
    (0)(0)
    Reply
    1. J
      jp narain
      Aug 24, 2016 at 6:33 am
      यह मनोनयन की व्यवस्था है जिसका कोई तार्किक आधार नहीं हैं।सिर्फ राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों का ही पदोन्नति भारतीय प्रशासनिक सेवा में होना युक्तियुक्त है।इसके लिए upscके द्वारा सिर्फ एक सीमित परीक्षा होनी चाहिए।
      (1)(0)
      Reply
      सबरंग