ताज़ा खबर
 

चंडीगढ़ छेड़खानी मामला: पुलिस की मिली सीसीटीवी फुटेज, महिला का पीछा करती दिखी SUV

बीते सप्ताह की शुक्रवार रात एक आईएएस अधिकारी की 29 वर्षीय बेटी का दो लड़कों ने कथित तौर पर पीछा किया था।
एनडीटीवी वीडियो से लिया गया स्क्रीनशॉट

चंडीगढ़ छेड़खानी मामला में पुलिस के हाथ पांच सीसीटीवी कैमरों की फुटेज लगी है। सूत्रों के मुताबिक, इसमें हरियाणा भाजपा अध्यक्ष का बेटा और उसका दोस्त एसयूवी कार से कथित तौर पर महिला की कार का पीछा करते दिख रहे हैं। चंडीगढ़ पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘चंडीगढ़ पुलिस ने उस मार्ग पर पांच सीसीटीवी की फुटेज फिर से प्राप्त कर ली है जिसपर कथित गाड़ी से पीड़िता की कार का पीछा किया गया।’’

बता दें कि बीते सप्ताह की शुक्रवार रात एक आईएएस अधिकारी की 29 वर्षीय बेटी का दो लड़कों ने कथित तौर पर पीछा किया। आरोपियों में हरियाणा भाजपा नेता का बेटा भी शामिल हैं। हरियाणा भाजपा प्रमुख सुभाष बराला के बेटे विकास (23) और आशीष कुमार (27) को कथित तौर पर महिला का पीछा करने के लिए गिरफ्तार कर लिया गया था। हालांकि दोनों को जमानत पर रिहा कर दिया गया क्योंकि उनके खिलाफ आईपीसी और मोटर व्हीकल अधिनियम की जमानती धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया।

उन्होंने कहा, ‘‘हमने उस रास्ते के कई सीसीटीवी कैमरों की पहचान की है जहां से आरोपी गुजरे थे और हम फुटेज लेने की प्रक्रिया में है। हम आपको बताएंगे।’’ इन आरोपों पर कि रास्ते के छह सीसीटीवी कैमरे काम नहीं कर रहे थे, इस पर सिंघल ने कहा, ‘‘तकनीकी विश्लेषण पूरा हो जाने पर ही मैं इस बारे में बता सकता हूं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम उस रास्ते पर हर कैमरे का अध्ययन कर रहे हैं। जब तकनीकी विश्लेषण पूरा हो जाएगा तो आपको जानकारी दी जाएगी।’’ पुलिस ने उन दावों को खारिज कर दिया कि उस पर किसी तरह का दबाव है।

चंडीगढ़ पुलिस का कहना है कि यदि कानूनी परामर्श मामले में गैर जमानती धाराएं लगाने के पक्ष में आता है तो वह ऐसा करने में हिचकेगी नहीं। सिंघल ने कहा कि वह खुले दिमाग से इस मामले की जांच कर रहे हैं और मामले से जुड़े कई मुद्दों पर कानूनी राय ले रहे हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सोमवार को कथित घटना की निंदा करते हुए कहा कि आरोपी के खिलाफ आरोपों को कमजोर करने का कोई प्रयास नहीं किया जाना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग