ताज़ा खबर
 

बलात्कारी बाबा राम रहीम के समर्थन में BJP MP, कहा- भारतीय संस्कृति को बदनाम करने की साजिश

Dera Sacha Sauda, Ram Rahim Singh: साक्षी महाराज ने कहा कि राम रहीम पर एक महिला ने यौन शोषण के आरोप लगाये हैं, लेकिन उनके पीछे करोड़ों लोग खड़े हैं उनकी आवाज क्यों नहीं सुनी जा रही है।
पंचकुला में वाहनों में आग लगा दी गई (फोटो-पीटीआई)

साध्वी से रेप के दोषी राम रहीम के समर्थन में बीजेपी के सांसद साक्षी महाराज आ गये हैं। साक्षी महाराज ने कहा है कि भारत की संस्कृति को बदनाम करने की साजिश हो रही है। साक्षी महाराज ने कहा कि राम रहीम पर एक महिला ने यौन शोषण के आरोप लगाये हैं, लेकिन उनके पीछे करोड़ों लोग खड़े हैं उनकी आवाज क्यों नहीं सुनी जा रही है। उन्होंने कहा कि अगर इससे भी बड़ी कोई वारदात होती है तो इसके लिए सिर्फ डेरा के समर्थक ही जिम्मेदार नहीं होंगे बल्कि अदालत भी जिम्मेदार होगी। उन्होंने कहा कि योजनाबद्ध तरीके से भारतीय संस्कृति को बदनाम करने की साजिश हो रही है। साक्षी महाराज ने कहा कि साधु संन्यासियों को बदनाम करने के लिए षड़यंत्र किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों की अस्मिता खतरे में है इसलिए साजिश रची जा रही है।

बता दें कि पीएम नरेन्द्र मोदी ने हरियाणा में हिंसा की कड़ी निंदी की है। मोदी ने कहा है कि 25 अगस्त को हुई हिंसा की घटना बेहद दुखदायी और निंदनीय है। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि मैं इस हिंसा की निंदा करता हूं और सभी लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं। पीएम ने कहा कि वे पूरी घटना पर लगातार निगरानी रख रहे हैं, और राष्ट्रीय सुरक्षा सुलाहकार और गृह सचिव से बात की है। पीएम ने कहा कि उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि लगातार काम कर माहौल को सामान्य बनाएं।

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को दुष्कर्म मामले में अदालत द्वारा दोषी ठहराए जाने के बाद उनके नाराज भक्त हिंसा पर उतर आए हैं। यहां समर्थकों को काबू में करने के लिए सुरक्षा बलों द्वारा की गई गोलीबारी में 30 लोगों की मौत हो गई। हिंसा में सुरक्षा कर्मियों सहित 100 लोग घायल हुए हैं।  पुलिस सूत्रों ने कहा कि सुरक्षा बलों ने डेरा समर्थकों को काबू में करने के लिए गोली चलाई, जिसमें 30 की मौत हो गई। डेरा समर्थकों ने व्यापक तोड़फोड़ की और कई वाहनों व भवनों में आग लगा दी। डेरा समर्थकों ने पत्रकारों और सुरक्षा बलों पर हमले किए। कुछ पत्रकार जान बचाने के लिए नजदीकी घरों में शरण लेने को मजबूर हुए। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि हिंसा में सुरक्षाबलों सहित 100 लोग घायल हुए हैं। करीब 100 वाहनों में आग लगा दी गई। कई सरकारी और निजी भवनों में आग लगा दी गई। स्थानीय निवासियों का कहना है कि शहर के हिस्सों में धुएं का गुबार देखा गया।निषेधाज्ञा का उल्लंघन करते हुए डेरा समर्थक डेरा प्रमुख के दुष्कर्म मामले में फैसले के मद्देनजर पंजाब और हरियाणा से हजारों की संख्या में शहर में जुटे थे। फैसला राम रहीम के खिलाफ आते ही वे हिंसा पर उतारू हो गए। सीबीआई की विशेष अदालत ने राम रहीम को दो महिला शिष्याओं से दुष्कर्म और छेड़छाड़ के मामले में दोषी ठहराया है। राम रहीम पर वर्ष 2002 में दो साध्वियों से दुष्कर्म करने का आरोप है। इस मामले की अदालत में सुनवाई 2008 में शुरू हुई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. शाहिद
    Aug 25, 2017 at 11:54 pm
    नेक सलाह , महाराज बलात्कारी समर्थक एक मोर्चा बना लें और उसके प्रमुख बनकर अपना काला मुंह दिखाते फिरें । कुछ तो शर्म करो । भक्तों की भीड़ नहीं है तो क्या हुआ पीड़िता भी इस देश की बेटी ही तो है उसे भी इंसाफ मिलना ही चाहिए ।
    (0)(0)
    Reply
    1. B
      bitterhoney
      Aug 25, 2017 at 11:35 pm
      साक्षी महाराज की आपत्ति बिलकुल ी है. बलात्कार हमारी भारतीय संस्कृति का एक अत्यंत उज्जवल ध्याय है.यह हमारे देश के सभी प्रांतों में प्रचलित है. दिल्ली को तो बलात्कार की राजधानी कहा जाता है. बलात्कार देश के लिए विदेशी मुद्रा का बहुत बड़ा स्रोत है. बलात्कार को कैसे bura कहा ja sakta है?
      (0)(0)
      Reply
      1. R
        Ramkishan
        Aug 25, 2017 at 11:34 pm
        हाँ जी साक्षी महाराज जी यह एक बहुत बड़ी साज़िस है . आप के विचार से सरकार का कोनसा विभाग और मंत्री इस साज़िस से बेखबर रहा ३ साल तक?. आप को देश हित मैं यह सवाल पार्लियामेंट मैं उठाना चाहिए . डरिये नहीं सारा देश आपके साथ है
        (0)(0)
        Reply
        1. शाहिद
          Aug 25, 2017 at 11:02 pm
          ऐसे बलात्कारी समर्थक साधु , दरअसल साधु के नाम पर कलंक है । शर्म नहीं आती ऐसे लोगों को जो संस्कृति की दुहाई देकर साथी साधुओं के कुकर्मों को समर्थन देते हैं । देश किधर जा रहा है भाई ।
          (0)(0)
          Reply
          सबरंग