ताज़ा खबर
 

पंजाब: टीचर ने पहली कक्षा के बच्चे को बेरहमी से पीटा, अगले दिन हो गई मौत

आठ साल के इस बच्चे के परिजनों का कहना है कि उसके स्कूल टीचर ने उसकी बेहरमी से पिटाई की थी।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

उत्तर प्रदेश के बाद अब पंजाब में टीचर द्वारा बच्चे की बेरहमी से पिटाई करने का मामला सामने आया है, जिसके उसकी मौत हो गई। पंजाब के लुधियाना जिले के फुल्लनवाल गांव के सरकारी स्कूल के पहली क्लास के छात्र की रविवार सुबह सिविल अस्पताल में मौत हो गई। आठ साल के इस बच्चे के परिजनों का कहना है कि उसके स्कूल टीचर ने उसकी बेहरमी से पिटाई की थी। पास्सी नगर के बिंदू राम उर्फ गुड्डू ने उसके साथ मारपीट की शिकायत अपने परिजनों से की थी।

अंग्रेजी अखबार द ट्रिब्यून ने एक रिपोर्ट में गुड्डू के परिवार के एक सदस्य के हवाले से लिखा है, ‘शनिवार को जब बिंदू अपने स्कूल से वापस लौटा तो उसने अपने दादा को बताया कि उसके स्कूल टीचर ने उसके बेरहमी से पिटाई की है। उसने बताया कि उसके स्कूल टीचर ने उसके चेहरे और कान पर थप्पड़ मारे हैं। उसके एक हाथ और कान पर भी सूजन था। वह स्कूल जाने से मना कर रहा था। उस वक्त तो उसे मना दिया गया। उसके बाद रात में उसकी तबियत खराब हो गई, जिसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल में सुबह उसकी मौत हो गई’ इसके साथ ही रिपोर्ट में गुड्डू की बहने सपना के हवाले से लिखा है, ‘मेरे भाई ने मुझे बताया था कि टीचर ने उसके बाल पकड़कर घसीटा और उसका कान इतनी तेजी से खींचा कि उससे कान से खून निकलने लगा।’

पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बच्चे के शरीर पर किसी भी तरह की चोट के निशान नहीं हैं। हालांकि, आरोपों की जांच के लिए बच्चे की आंतड़ियों के सैंपल लेकर फोरेंसिक लैब भेज दिए गए हैं। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है और पूछताछ के लिए टीचर को बभी बुलाया जाएगा।

बता दें, इससे पहले ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में देखने को मिला था, जहां एक बच्चे ने टीचर की सजा से तंग आकर जहर पी लिया था।  जिसके बाद उसकी मौत हो गई थी। बच्चे ने जहर पीने से पहले एक सुसाइड नोट भी लिखा था, जिसमें उसने लिखा था कि मेरी टीचर को बोल दीजिएगा कि वह ऐसी सजा किसी बच्चे को ना दे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग