ताज़ा खबर
 

पंजाब: ‘बलात्कारी’ किशोर के हाथ कलम किए बच्ची के पिता ने, कहा- कोई अफसोस नहीं

पुलिस ने बताया कि किशोर को भटिंडा अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने बच्ची के पिता को गिरफ्तार कर लिया
Author लुधियाना | April 21, 2016 02:38 am
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रतीक के तौर पर किया गया है।

अपनी सात माह की बच्ची के साथ हुए बलात्कार का बदला लेने के लिए एक पिता ने 17 वर्षीय आरोपी के दोनों हाथ काट दिए। बच्ची के साथ दो साल पहले बलात्कार हुआ था। हाथ काटने वाले पम्मा को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसने अपना गुनाह मान लिया है और कहा है कि बलात्कारी को सजा देने पर उसे कोई अफसोस नहीं है।

पुलिस ने बताया कि बच्ची से बलात्कार के आरोपी परमिंदर सिंह के दोनों हाथ काट देने वाले पम्मा को बुधवार बठिंडा पुलिस ने धर दबोचा। मंगलवार को एक बेहद चौंकाने वाली घटना के तहत पंजाब के जिला मुक्तसर में गांव कोटली अबलू के रहने वाले पम्मा सिंह ने बलात्कार के 17 वर्षीय आरोपी परमिंदर सिंह को गांव झुंबा के नजदीक दोपहर एक पेड़ से बांधकर उसके दोनों हाथ काट दिए थे। परमिंदर ने अप्रैल, 2014 में पम्मा की महज 7 महीने की मासूम बेटी के साथ बलात्कार किया था। मंगलवार को बठिंडा की रामा मंडी अदालत में इसी मामले की सुनवाई होनी थी, जिसके लिए दोनों अदालत पहुंचे थे, पर सुनवाई नहीं हो पाई थी।

अब पम्मा को अपने किए पर कोई अफसोस नहीं, बल्कि उसे दुख इस बात का है कि उसने परमिंदर पर हमला उसकी जान लेने के इरादे से किया था, लेकिन वह जिंदा है। उसने बताया कि वह अरसे से बदला लेने के सही मौके की फिराक में था और उसे अपने किए पर कोई पछतावा नहीं। बलात्कार की वारदात के समय परमिंदर 15 साल का था।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि अप्रैल, 2014 तक पम्मा अपनी पत्नी और 7 महीने की बच्ची के साथ रामा मंडी में रहता था, जहां दोनों पति-पत्नी र्इंटों के भट्ठे में काम करते थे। एक रोज जब यह दंपति काम पर गया तो परमिंदर एक नजदीकी मकान से निकलकर उनकी बस्ती के नजदीक पहुंचा और उनकी बच्ची के साथ कुकर्म किया। बच्ची की मां मौके पर पहुंची और वहां परमिंदर को मौके पर ही पकड़ लिया था। इसके बाद बलात्कार की धाराओं के तहत प्राथमिकी उसके खिलाफ दर्ज की गई थी। पर परमिंदर को इस मामले में तीन महीने बाद जमानत मिल गई थी।

पम्मा की धरपकड़ का अभियान चलाने वाले एसपी बिक्रमजीत सिंह ने बताया कि उसे गांव झुंबा के ही नजदीकी इलाके से पकड़ा गया है, जहां उसने खौफनाक वारदात को अंजाम दिया था। परमिंदर के दोनों हाथ कलम करने में इस्तेमाल तेजधार हथियार जब्त होना बाकी है। पम्मा ने बताया कि मंगलवार को अदालत में बलात्कार मामले पर सुनवाई अदालत में नहीं हुई थी और अदालत परिसर में ही उसने परमिंदर को इस मसले पर समझौते की पेशकश कर दी और फिर उसे अपनी बाइक पर बैठा लिया और गांव कोटली अबलू तक लिफ्ट देने को कहा क्योंकि ये दोनों एक ही गांव के रहने वाले हैं।

एसपी बिक्रमजीत सिंह ने बताया कि रास्ते में उसने परमिंदर को कोल्ड ड्रिंक में नशीली दवा घोलकर पीने को दी जिससे वह बेसुध हो गया। इसी अचेतावस्था में ही उसने कोहनी के नीचे परमिंदर के दोनों हाथ काट दिए। पम्मा ने गांव झुंबला में एक नहर के नजदीक अपनी बाइक रोकी थी और उसे वहां एक पेड़ से बांधकर पहले उसका दायां हाथ काटा और फिर बायां हाथ भी कलम कर मौके से फरार हो गया। उसने पुलिस को बताया कि इस पूरे कांड में उसे चंद मिनट ही लगे थे। इस हमले में परमिंदर के शरीर के अन्य हिस्सों पर भी चोटें आर्इं थीं।

पम्मा ने बताया कि वारदात के 20 मिनट बाद ही पुलिस को इसकी इत्तला उस ग्रामीण के मार्फत मिली थी जो वहां इलाके में अपनी बकरियां चराने आया था। उसने वहां चीख-पुकार करते परमिंदर की आवाज सुनी तो नजदीक जाकर देखा कि उसके दोनों हाथ कटे पड़े थे। इत्तला मिलने पर पुलिस दल मौके पर पहुंचा और लहूलुहान तड़पते परमिंदर को अस्पताल पहुंचाया, जहां से उसे फरीदकोट के गुरु गोबिंद सिंह मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल रेफर कर दिया गया। उसे अब जिंदगीभर अपंग ही रहना होगा क्योंकि उसकी कटी बाजुएं जोड़ने में सफलता नहीं मिल पाई। हालांकि पुलिस ने उसके दोनों कटे हाथ अस्पताल को वारदात के छह घंटे के अंदर ही लाकर दे दिए थे। पम्मा को अब गुरुवार को अदालत में पेश किया जाएगा और पुलिस वारदात में इस्तेमाल तेजधार हथियार की बरामदगी के लिए उसका पुलिस रिमांड लिया जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग