December 08, 2016

ताज़ा खबर

 

नकदी संकट पर हो रहे झगड़े पुलिस प्रशासन के सामने बड़ी चुनौतियां

शराब की दुकान पर एक ग्राहक ने पुराना 500 का नोट नहीं लेने पर सेल्समैन पर फायरिंग कर दी।

Author मेरठ | November 22, 2016 04:21 am
पुलिस।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में नोटबंदी को लेकर हो रही झगड़े पुलिस प्रशासन के लिए एक चुनौती बन सकती है। रविवार को शराब की दुकान पर एक ग्राहक ने पुराना 500 का नोट नहीं लेने पर सेल्समैन पर फायरिंग कर दी। पिस्टल की गोली उसके सिर के बराबर से होती हुई फ्रिज में जा धंसी। उधर नोटबंदी के बाद हो रही तंगी के कारण उधार का पैसा मांगने पर एक सपा नेता ने दवा व्यवसायी की पिटाई कर दी। मंगलवार को बदमाशों ने एक डाकघर से करीब साढ़े छह लाख रुपए लूट लिए थे। बताया जा रहा है कि बदमाश नई करेंसी लूटने की फिराक में थे। लेकिन जब नई करेंसी नहीं मिली तो वह पुरानी करेंसी ही लूट ले गए।

नोटबंदी के बाद यहां पैसों को लेकर विवाद की वारदातें बढ़ने की संभावनाएं जताई जा रही है। उधार की रकम नई करेंसी में लौटाने को लेकर जगह-जगह झड़पें हो रहीं है। रविवार को गंगानगर स्थित एक सरकारी अंग्रेजी शराब व बियर की दुकान पर सेल्समैन महताब व योगेश मौजूद थे तभी एक युवक दुकान पर आया और उसने शराब खरीदकर पुराने नोट दे दिए। इस बात को लेकर काफी देर तक दोनों के बीच विवाद होता रहा। युवक ने पुरानी करेंसी के बदले बाद में नई करेंसी का वादा कर वहां से चला गया लेकिन कुछ समय बाद में ये युवक एक गाड़ी में अपने 4-5 युवकों के साथ शराब की दुकान पर पहुंचा। इस युवक ने सेल्समैन से चार बियर देने को कहा,जिस पर सेल्समैन ने पहले पैसे देने की मांग की। जिस पर युवक ने पिस्टल निकालकर फायर कर दिया। गोली सेल्समैन को न लगकर फ्रिज में जा धंसी।

घटना की जानकारी मिलने पर एसपी देहात श्रवण कुमार व सीओ सदर ब्रजेश कुमार सिंह मौके पर पहुंचे। उधर थापर नगर कालोनी में रहने वाले प्रमोद जैन व सपा नेता विनीत वरमानी आपस में खासे दोस्त थे। प्रमोद का कहना है कि उसने विनीत वरमानी को साढ़े तीन लाख रुपए उधार दिए थे। नोटबंदी के बाद जब उसने अपनी रकम मांगी तो मामले को टाल दिया। लेकिन जब दोबारा प्रमोद अपनी कार से सपा नेता से अपनी रकम मांगने गया तो सपा नेता ने अपने साथियों से मिलकर दवा व्यवसायी को लोहे की रोडों से पीटा।
पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उसको जिला अस्पताल में भर्ती करा दिया है। नोटबंदी के बाद पुलिस महकमें के काफी लोग अब कानून व्यवस्था को छोड़कर बैंक व बैंक कर्मचारियों की सुरक्षा में लगे हुए हैं। शमली, बागपत व बरेली में बैंकों के बाहर लगी लाइनों में गुस्साएं लोग बैंक कर्मचारियों को बंधक बना चुके हैं।
बाजारों में सन्नाटा पसरा हुआ है।

 

Speed News: जानिए दिन भर की पांच बड़ी खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 22, 2016 4:21 am

सबरंग