December 07, 2016

ताज़ा खबर

 

पार्टी से निष्कासित अखिलेश यादव के 7 नेताओं की वापसी तय, मुलायम सिंह यादव को दिया माफीनामा

सपा में राम गोपाल यादव की पार्टी में वापसी के बाद सीएम अखिलेश यादव के बर्खास्त किए गए 7 खास नेताओं की पार्टी में वापसी होना लगभग तय है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव। (फाइल फोटो)

सपा में बीते महीनों से चल रहे विवाद के बाद हाल ही में प्रो. राम गोपाल यादव की पार्टी में वापसी हुई है और अब सीएम अखिलेश यादव के करीबी बर्खास्त किए गए 7 युवा नेताओं ने सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह से शनिवार को उनके आवास पर मुलाकात कर अपना माफीनामा सौंपा हैं।

इसके बाद इन नेताओं की पार्टी में वापसी लगभग तय मानी जा रही है। मुलायम सिंह यादव से मिलकर वापस आने के बाद बर्खास्त नेता मो. एबाद ने कहा कि नेता जी (मुलायम सिंह यादव) ने हमें समाजवादी साहित्य पढ़ने को कहा है। उन्होंने बताया कि हमें समाजवाद को आगे बढ़ाना है। इसके अलावा हम लोगों ने भी सपा सुप्रीमो के सामने अपनी बात रखी और पत्र दिया।

एमएलसी सुनील सिंह साजन ने कहा कि हम लोग मुलायम सिंह के खिलाफ बोलने की कभी सोच भी नहीं सकते। आनंद भदौरिया ने कहा कि वह जिससे नाराज होते हैं उससे मोहब्बत भी करते हैं। वह बड़े दिल के नेता हैं और हमारे नेता के भी नेता हैं। हम लोगों ने उनसे कहा कि यदि जाने-अनजाने कोई गलती हुई उसके लिए माफ करें और अनुरोध किया कि हम लोगों को अपने साथ लें।

इसके अलावा सुनील साजन ने कहा कि आज जिस तरह लोग लाइन में लगे हैं और गरीबों के पास खाने के लिए नहीं है। ऐसी परिस्थिति में अखिलेश यादव की सरकार दोबारा लानी है। असली चीज यह है कि हम लोगों को अखिलेश यादव के नेतृत्व में 2017 में सरकार बनानी है।

पार्टी से बर्खास्त हुए नेताओं ने मुलायम सिंह यादव से मुलाकात की। मिलने वालों में मो. एबाद, सुनील सिंह साजन, आनंद भदौरिया, बृजेश सिंह, दिग्विजय सिंह देव, गौरव दुबे और प्रदीप तिवारी थे।

दिग्विजय सिंह देव ने कहा कि हम लोगों ने माफ़ी नामा दिया है। जो उनका आदेश होगा वह हम पूरे सम्मान के साथ मानेंगे। वहीं इस मुलाकात के लिए संजय लाठर नहीं आ सके। वहीं बृजेश सिंह ने कहा कि नेता जी ने कहा है कि समाजवादीयों का संघर्ष पढ़िए , मेरे संघर्ष को पढ़िए , इतिहास जानिए और सपा का प्रचार प्रसार किजिए।

नेता जी के सामने हम सभी ने अपनी-अपनी बातें रखी और कहा कि हम सभी ने कभी आप के खिलाफ नहीं बोला। वापसी को लेकर नेता जी ने कुछ नहीं कहा, बस चुनाव प्रचार में जाने की बात कही। इसके अलावा सुनील सिंह साजन ने बताया “हम लोग नेता जी के खिलाफ बोल नहीं सकते। यहां तक कि मन में भी नहीं सोच सकते । नेता जी ने कहा की पार्टी के साथ काम
करना है। हम लोगों को एकजुट होकर चुनाव में जाने का निर्देश दिया गया है।

वहीं आनंद भदौरिया ने बताया कि नेता जी देश के शानदार नेता हैं और वह हमारे नेता(अखिलेश यादव) के भी नेता हैं। वह ऐसे नेता हैं जिनका बहुत बड़ा दिल है, नेता जी जिससे नाराज होते हैं उन्हीं से वह मोहब्बत भी करते हैं। इसके अलावा उन्होंने कहा कि हमने नेता जी से कहा कि अगर हम लोगों से कोई गलती हुई हो तो हम सभी माफी मांगते हैं।

नेता जी के सामने अपनी वापसी की बात रखते हुए हमने उनसे से अनुरोध किया की हम लोग उनके नेतृत्व में काम करना चाहते हैं। हम लोग आपको भरोसा दिलाते हैं और हम सभी ने कोई गलती नहीं की है और आगे भी कोई गलती नहीं करेंगे।

आखिर में सुनील साजन ने कहा कि हम 7 लोगों को नेता जी ने समझाया है कि नौजवानों की वजह से यह सरकार बनाई गई थी और उस सरकार ने बहुत अच्छा काम किया है और एक बार फिर नौजवानों को साथ लेकर सरकार बनाएंगे। शिवपाल सिंह यादव प्रदेश अध्यक्ष हैं उनको नेता जी ने बनाया है और हम लोगों को यह स्वीकार है लेकिन असल मुद्दा यह है कि हम लोग अखिलेश यादव के नेतृत्व में चुनाव लड़ें और अखिलेश यादव जी के नेतृत्व में सरकार बनाएं।

आज की बाकी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें 

वीडियो: “उत्तर प्रदेश चुनावों से पहले कोई गठबंधन नहीं”: मुलायम सिंह यादव

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 19, 2016 5:21 pm

सबरंग