December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

भगवान के नाम पर बने कार्ड से साल भर तक राशन लेता रहा पुजारी, गणेश को बताया बेटा, ऐसे खुली पोल

रसद विभाग के मुताबिक अधिकारियों ने उस वक्त सिर पकड़ लिया जब भगवान श्रीकृष्ण और ठकुरानी जी के बेटे के नाम की जगह उन्होंने श्री गणेश का नाम देखा।

पुजारी ने भगवान के नाम से बनवाया फर्जी राशन कार्ड। (Representative Image: Twitter)

फर्जी राशन कार्ड बनवाकर अनाज लेने का मामला पहले भी कई बार सामने आ चुका है लेकिन राजस्थान के बारां जिले में हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहा एक शख्स भगवान और उनके परिवार के नाम पर राशन कार्ड बनवा कर रहे सरकारी राशन ले रहा था। फर्जी राशन कार्ड बनवाने वाले शख्स पेशे से मंदिर का पुजारी है। जिला आपूर्ति अधिकारी के मुताबिक बारां जिले में एक मंदिर के पुजारी बाबूलाल ने फर्जी राशन कार्ड बनवाकर राशन ले रहा था। उसके दावा है कि यह राशन कार्ड उसे 2015 जारी किया गया था। राशन कार्ड में परिवार का मुखिया मुरली मनोहर (70) को बताया गया है, जो कि भगवान श्रीकृष्ण का ही नाम है। उनकी पत्नी के स्थान पर ठकुरानी जी (65) का नाम लिखा हुआ। उनके बेटे के स्थान पर श्री गणेश लिखा हुआ है।

रसद विभाग के मुताबिक अधिकारियों ने उस वक्त सिर पकड़ लिया जब भगवान श्रीकृष्ण और ठकुरानी जी के बेटे के नाम की जगह उन्होंने श्री गणेश का नाम देखा। जिसके बाद इस बात की सूचना जिला खाद्य आपूर्ति विभाग को दी गई। कार्ड का सत्यापन कराने पर पूरे मामले का खुलासा हुआ। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शुक्रवार को बाबूलाल को समन जारी कर हाजिर होने का आदेश दिया गया था और उससे उन लोगों को भी लाने के लिए कहा गया था, जिनके राशन कार्ड पर वह राशन ले रहा था।

काफी पूछताछ के बाद पुजारी बाबूलाल ने फर्जी राशन कार्ड बनवाने की बात कबूलते हुए बताया कि सभी नाम मंदिक के भगवानों के हैं। कार्ड के जिस सेक्शन में पता लिखा होता है वहां पुजारी ने मंदिर का पता दिया था। अधिकारियों के मुताबिक राशन कार्ड को सीज कर दिया गया है। साथ ही यह पता लगाया जा रहा है कि पुजारी ने इस कार्ड पर कितना राशन लिया है। अधिकारी यह मानकर चल रहे हैं कि इस तरह के कार्ड और लोगों द्वारा भी बनवाए गए होंगे। गौरतलब है कि राशन लेने के लिए फर्जी कार्ड बनवाने के मामले पहले भी सामने आ चुके हैं।

वीडियो: ATM/डेबिट कार्ड फ्रॉड से बचना चाहते हैं, तो इन आसान बातों का रखें ध्यान

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 28, 2016 4:56 pm

सबरंग