कोर्ट कार्यवाही से मीडिया को रोकना गलत: विजयन

केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने शनिवार को कहा कि अदालती कार्यवाही की पत्रकारों के रिपोर्टिंग करने पर कोई रोक नहीं है और रिपोर्टिंग बाधित कर रहे वकीलों के एक तबके की कार्रवाई को अस्वीकार्य बताया।

Author कोच्चि | October 16, 2016 02:20 am

केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने शनिवार को कहा कि अदालती कार्यवाही की पत्रकारों के रिपोर्टिंग करने पर कोई रोक नहीं है और रिपोर्टिंग बाधित कर रहे वकीलों के एक तबके की कार्रवाई को अस्वीकार्य बताया। केरल श्रमजीवी पत्रकार संघ की राज्य बैठक का उद्घाटन करते हुए विजयन ने कहा कि सरकार इस संबंध में कानून का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करेगी। उनका बयान ऐसे समय आया है, जब कुछ वकीलों ने मीडियाकर्मियों को बाहर खींच कर निकाल दिया। ये मीडियाकर्मी तिरुवनंतपुरम में सतर्कता अदालत में नियुक्ति विवाद पर पूर्व उद्योग मंत्री ईपी जयराजन के खिलाफ याचिका पर सुनवाई को कवर करने गए थे। उन्होंने कहा कि अधिवक्ताओं को इस बात का फैसला करने का कोई अधिकार नहीं है कि किसे अदालत में घुसना चाहिए और किसे नहीं। अदालत परिसर देश का है। यह न्यायपालिका का हिस्सा है और वकीलों का इस पर कोई अधिकार नहीं है। यह गलतफहमी है कि अधिवक्ताओं के पास न्यायाधीश की तरह के कुछ अधिकार हैं।

विजयन ने कहा कि पत्रकारों को रोकना प्रेस की स्वतंत्रता में बाधा डालने के समान है। वकीलों को यह समझना चाहिए कि यह कानून का उल्लंघन है। यह सरकार का कर्तव्य और जिम्मेदारी है कि वह देश के कानून की रक्षा के लिए कदम उठाए। विजयन ने मीडिया और वकीलों के एक हिस्से के बीच चल रहे गतिरोध को खत्म करने के लिए उनके द्वारा की गई पहल को भी स्पष्ट किया। उन्होंने हाल में ही इस संबंध में हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के साथ चर्चा की थी।
सरकारी वकील के एक महिला के साथ कथित तौर पर बदसलूकी करने को लेकर मीडिया रिपोर्ट से नाराज वकीलों के एक समूह ने कुछ मीडियाकर्मियों का पीछा किया था और मीडिया को 19 जुलाई से कार्यवाही को रिपोर्ट करने से रोका जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 16, 2016 2:19 am

सबरंग