ताज़ा खबर
 

सड़क पर अचानक ‘यमराज’ से हुआ सामना, मौत के देवता ने पूछा-मेरे साथ चलोगे क्या?

यमराज ने इन लोगों को सड़क पर उतरने का अपना मकसद बताया, और कहा कि अगर आप सड़क पर ड्राइविंग करते हुए मोबाइल पर बात करते हैं तो हादसा हो सकता है और आप लोगों की जान भी जा सकती है।
पुणे की सड़कों पर ट्रैफिक का पाठ पढ़ाते यमराज (youtube grab)

पुणे की सड़कों पर चल रहे लोग अचानक मौत के देवता यमराज को देखकर भौचक्के रह गये। यमराज ऐसे लोगों के सामने जाकर खड़े हो गये जो बाइक या कार पर ड्राईविंग के दौरान मोबाइल पर बात कर रहे थे। यमराज इन लोगों से मुखातिब हुए और सीधे पूछा, मेरे साथ चलोगे क्या तुम्हें लेने आया हूं। इस सवाल को सुनकर लोगों के हक्के-बक्के उड़ गये। लेकिन थोड़ी ही देर बाद यमराज ने इन लोगों को सड़क पर उतरने का अपना मकसद बताया, और कहा कि अगर आप सड़क पर ड्राइविंग करते हुए मोबाइल पर बात करते हैं तो हादसा हो सकता है और आप लोगों की जान भी जा सकती है।

दरअसल ये पूरी कवायद पुणे ट्रैफिक पुलिस की ओर शुरू की गई है, ताकि लोगों को ड्राइविंग के वक्त मोबाइल पर बात करने के खतरे से आगाह किया जा सके। बता दें कि पुणे पुलिस ने शनिवार (13 मई ) से ये अभियान शुरू किया है। पुणे पुलिस का मानना है कि भारत के लोगों को मौत के देवता से सबसे ज्यादा डर लगता है, लिहाजा अगर मौत के देवता यमराज किसी चीज के बार में लोगों को खुद बताएं तो ये कामयाब हो सकती है। पुणे पुलिस के मुताबिक जैसे ही ट्रैफिक पुलिस के अधिकारी किसी भी शख्स को ड्राइविंग के दौरान बात करते हुए देखेंगे यमराज के वेश में ट्रैफिक पुलिस अधिकारी उनके पास पहुंच जाएंगे और उनसे पुछेंगे कि मेरे साथ यमलोक चलना है क्या?

अंग्रेजी अखबार पुणे मिरर के मुताबिक ट्रैफिक पुलिस ड्राइविंग के दौरान मोबाइल पर बात करने के खिलाफ कई बार अभियान चला चुकी है, लेकिन इसका ज्यादा असर नहीं हुआ है। इसलिए ट्रैफिक पुलिस ने इस बार यमराज का ही आइडिया लाया है।  सिर्फ पिछले महीने ही ट्रैफिक पुलिस ने ड्राइविंग के दौरान मोबाइल पर बात कर रहे 264 लोगों का लाइसेंस जब्त किया है और इसे रद्द करने के लिए आरटीओ ऑफिस भेजा गया है। पुणे ट्रैफिक पुलिस को उम्मीद है कि इस बार लोग मौत का खौफ दिखाये जाने के बाद चेतेंगे।

श्रीलंका: भारतीय मूल के तमिल लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी का ऐलान- "वाराणसी और कोलंबो के बीच शुरू होगी सीधी विमान सेवा"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.