December 08, 2016

ताज़ा खबर

 

राजद सरकार में मंत्री रहे लालू के करीबी नेता का बेटा गिरफ्तार, बैन के बावजूद रखी थी 12 बोतल शराब

राज्य में फिलहाल नीतीश कुमार की जदयू और लालू प्रसाद की राजद की साझा सरकार है।

राजद सरकार में मंत्री रहे विद्यासागर निषाद के बेटे लखन निषाद शराब के साथ गिरफ्तार

पटना पुलिस ने जक्कनपुर थाना क्षेत्र से लालू-राबड़ी शासन काल में मंत्री रहे विद्या सागर निषाद के बेटे लखन निषाद को 12 बोतल शराब के साथ गिरफ्तार किया है। गौरतलब है कि राज्य में शराब पर पूर्ण रुप से प्रतिबंध है। न तो कोई शराब बना सकता है, न पी सकता है और न ही उसे जमा कर रख सकता है। ऐसा करते हुए पाए जाने पर उसे जेल की हवा खानी पड़ सकती है। राज्य की मौजूदा नीतीश सरकार ने नए शराबबंदी कानून को और कठोर बनाते हुए उसके अनुपालन के लिए अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं। राज्य में फिलहाल नीतीश कुमार की जदयू और लालू प्रसाद की राजद की साझा सरकार है।

पुलिस ने लखन निषाद को उस वक्त गिरफ्तार किया जब वो किसी को शराब देने जा रहे थे। फिलहाल पुलिस लखन निषाद से पूछताछ कर रही है। पुलिस को शक है कि पूर्व मंत्री का बेटा पिछले कुछ महीनों से शराब की तस्करी में लिप्त हैं। इसके अलावा पुलिस इस बात की भी जांच कर रही है कि क्या कोई गिरोह है जो शराब की तस्करी में शामिल है। निषाद के पिता विद्या सागर निषाद राजद शासनकाल में पशुपालन मंत्री रह चुके हैं।

राज्य में शराबबंदी कानून पर बिहार विधानसभा एवं बिहार विधान परिषद में साल 2015 के उत्पाद अधिनियम में संशोधन का विधेयक सर्वसम्मति से पारित हुआ था। इसके बाद इस साल 1 अप्रैल और 5 अप्रैल को दो अधिसूचनाएं निर्गत हुई थीं जिसके तहत बिहार में पूर्ण शराबबंदी लागू हुईं। राज्य सरकार का दावा है कि शराबबंदी को व्यापक जन समर्थन मिला है।

बाद में शराबबंदी लागू होने के बाद कुछ अड़चनें आने के बाद उत्पाद एवं मद्य निषेध विभाग ने सरकार के समक्ष प्रस्ताव रखा और पुराने एक्ट के स्थान पर नया कानून लाया गया। बिहार मद्य निषेध एवं उत्पाद विधेयक 2016 को बिहार विधानमंडल ने इसी साल 4 अगस्त को पारित किया था जिसे राज्यपाल द्वारा 7 सितंबर को स्वीकृति दी गई।

वीडियो देखिए- अवैध संबंधों की आरोपी महिला का चेहरा देखने के लिए दुपट्टा खींचने लगे पत्रकार

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 25, 2016 6:07 pm

सबरंग