ताज़ा खबर
 

पठानकोट आतंकी हमले में शहीद के भाई और भाभी की गुरदासपुर में सरेआम पिटाई, वायरल हुआ वीडियो

पठानकोट आतंकी हमले के शहीद के छोटे भाई कुलवंत सिंह और भाभी को धन संबंधी विवाद के चलते एक ट्रैवल एजेंट और उसके साथियों ने कथित तौर पर पीट दिया।
Author गुरदासपुर (चंडीगढ़ा) | May 15, 2017 19:16 pm
पिटाई वाले वीडियो ली गई तस्वीर

पठानकोट आतंकी हमले के शहीद के छोटे भाई कुलवंत सिंह और भाभी को धन संबंधी विवाद के चलते एक ट्रैवल एजेंट और उसके साथियों ने कथित तौर पर पीट दिया। हरदीप सिंह और उनकी पत्नी कुलविंदर कौर को 13 मई को भैनी मियां खान थाना क्षेत्र के तहत आने वाले एक इलाके में एक दुकान के बाहर पीटा गया। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। गुरदासपुर के उपनिरीक्षक विजय कुमार ने आज कहा कि विवाद तब हुआ जब हरदीप ने खुद को विदेश भेजने के लिए ट्रैवल एजेंट गुरनाम सिंह को नौ लाख रूपये दिए।

पुलिस ने कहा कि गुरनाम उन्हें विदेश भेजने में नाकाम रहा तो परिवार ने दिया गया पैसा वापस मांगा। एजेंट ने उन्हें पांच लाख रूपये दिए और बाकी की राशि बाद में देने का वायदा किया। जब वह अपना वायदा पूरा नहीं कर पाया तो हरदीप और उनकी पत्नी ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराने का फैसला किया। बीती 13 मई को हरदीप और उनकी पत्नी शिकायत दर्ज कराने के लिए थाने जा रहे थे तब रास्ते में वे एक मोबाइल की दुकान पर रिचार्ज कराने के लिए रूके।

वहां गुरनाम के परिवार के सदस्य आ गए और वे हरदीप और कुलविंदर को पीटने लगे। पुलिस ने कहा कि गुरनाम समेत 11 लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत एक मामला दर्ज कर लिया गया है। पुलिस ने कहा कि ट्रैवल एजेंट का परिवार फरार है।
हवलदार कुलवंत सिंह उन सात सुरक्षा कर्मियों में शामिल हैं जो पठानकोट वायुसेना अड्डे पर आतंकी हमले में शहीद हुए थे। पिछले साल एक-दो जनवरी की दरमियानी रात को चार आतंकवादी सीमा पार करके इस ओर आ गए थे और उन्होंने हमला किया था।

। पंजाब पुलिस ने हरदीप सिंह और उनकी पत्नी कुलविंदर कौर पर हमला करने के आरोप में 11 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इनमें महिलाएं भी शामिल हैं।

कुलवंत सिंह के छोटे भाई हरदीप सिंह और उनकी पत्नी कुलविंदर कौर पर ट्रैवेल एजेंट गुरनाम सिंह और दूसरों ने भइनी मियां खान पुलिस स्टेशन के पास शनिवार को हमला किया। कुलविंदर को महिलाओं और दूसरे लोगों द्वारा सार्वजनिक तौर पर पीटा गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.