ताज़ा खबर
 

गुजरात: हिंसक के बाद जानलेवा भी हुआ पटेल आरक्षण आंदोलन, सूरत में युवक ने की खुदकुशी

स्थानीय पटेल नेताओं का यह भी दावा है कि भाविन को पुलिस परेशान कर रही थी।
Author सूरत | April 18, 2016 18:23 pm
पटेल समुदाय के जेल भरों आंदोलन का दृश्य।

पट्टीदार अनामत आंदोलन समीति (पास) के नेताओं ने दावा किया है कि एक 27 वर्षीय पटेल युवक ने मेहसाणा में पुलिस की कार्रवाई से दुखी होकर जहर खाकर खुदकुशी कर ली है। हालांकि इस मामले पर पुलिस का कहना है कि युवक के जहर खाने की वजह अभी जांच का विषय है।

सूरत में पास सयोंजक निखिल सावनी ने कहा कि भाविन खौंत आरक्षण के लिए संघर्ष कर रही पास से जुड़े हुआ था। पिछली शाम उसने पुना गाम स्थित अपने घर में जहर खाकर खुदकुशी कर ली। सावनी के अनुसार जब भाविन ने मेहसाणा में जेल भरो आंदोलन के दौरान पुलिस और पटेल समुदाय के बीच हुए हिंसक संघर्ष के विषय में सुना तब से वो सदमे में था। पुलिस की कार्रवाई से दुखी भाविन ने शाम 7 बजे के आसपास जहर खा लिया। घटना की खबर मिलते ही उसे तुरंत निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था जहां आधी रात में उसने दम तोड़ दिया।

भाविन बाबरा तालूका का रहने वाला था और कई साल पहले सूरत आकर बस गया था। वो टैक्सटाइल के व्यवसाय से जुड़ा हुआ था।” पुना गाम पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज करके आगे की जांच शुरू कर दी है। पास नेताओं का यह भी दावा है कि युवक को पुलिस परेशान कर रही थी। पुलिस वैसे अभी इस दावे को मानने को तैयार नहीं है कि युवक ने पुलिसिया कार्रवाई के कारण जहर खाया है। पुणा गाम को इंस्पेक्टर विनोद पटेल ने कहा है कि युवक ने जहर क्यों खाया अभी यह जांच का विषय है।” पाश नेताओं के कौंत को पुलिस के परेशान करने के दावे पर इंस्पेक्टर पटेल ने कहा है कि पुलिस ने युवक को कभी हिरासत तक में नहीं लिया परेशान करने का तो प्रश्न ही नहीं उठता।

Read Also: गुजरात: पटेल रैली के दौरान हिंसा, मेहसाणा में लगा कर्फ्यू, पुलिस ने किया लाठी चार्ज

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग