ताज़ा खबर
 

एक दिन में पाकिस्तान ने दूसरी बार तोड़ा सीजफायर, पूंछ के बाद अखनूर में बरसाई गोलियां

आज पाकिस्तान ने पूंछ जिले के देगवार इलाके में सीजफायर तोड़ा था
कश्मीर में भारत-पाक सीमा पर तैनात जवान। (File Photo)

पाकिस्तानी सैनिकों ने जम्मू जिले में अंतररराष्ट्रीय सीमा और पुंछ में नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी और गोलाबारी करके आज दो बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया जिस पर सुरक्षा बलों की ओर से जवाब दिया गया। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तानी रेंजर्स ने आज अपराह्न सवा तीन बजे से जम्मू के अखनूर क्षेत्र के परगवाल सेक्टर में ब्राह्मण बेला और रायपुर सीमा चौकियों पर छोटे हथियारों से गोलीबारी की।
अधिकारी ने बताया कि अपराह्न पौने चार बजे पाकिस्तानी रेंजर्स ने अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगे क्षेत्रों में मोर्टार गोले दागे और बीएसएफ ने उसका जवाब दिया। उन्होंने बताया कि अभी तक इसमें किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। एक अन्य अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तानी सेना ने पुंछ के मानकोट, सब्जियान और दिग्वार क्षेत्रों में नियंत्रण रेखा स्थित भारतीय चौकियों पर अपराह्न तीन बजे के बाद गोलीबारी और गोलाबारी की। अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तानी सैनिकों ने हाल के दिनों में कई बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया है। इस वर्ष पाकिस्तान की ओर से संघर्षविराम के उल्लंघन की घटनाओं में काफी वृद्धि हुई है।

वहीं उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिले में आज आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के एक संदिग्ध भूमिगत समर्थक को गिरफ्तार कर लिया गया। इस संदिग्ध समर्थक पर आतंकवाद में शामिल होने के लिए युवाओं को प्रेरित करने और भड़काने का आरोप है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि जिले के गौशबग पट्टन क्षेत्र के निवासी इश्तियाक अहमद वानी को गिरफ्तार कर लिया गया है। वानी की हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल होने के लिए युवाओं को प्रेरित करने और भड़काने के सिलसिले में तलाश थी।

उन्होंने बताया कि पुलिस और अन्य सुरक्षा एजेंसियों द्वारा लगातार बनाये गये दबाव और मुठभेड़ों के कारण उत्तर कश्मीर में सक्रिय ज्यादातर आतंकवादी बेअसर हो गये है इस कारण हिजबुल मुजाहिदीन नियंत्रण रेखा (एलओसी) और घाटी के अंदर भर्ती प्रक्रिया को बढ़ाने का प्रयास कर रहे है। अधिकारी ने बताया कि हाल में बारामुला पुलिस ने आतंकवाद में शामिल होने से 10 लड़कों को बचाया था और उन्हें आतंकवादियों के चंगुल से निकालकर उनके अभिभावकों के हवाले कर दिया गया था। अधिकारी ने बताया कि इन 10 लड़कों में से चार को आतंकवाद में शामिल होने के लिए वानी ने प्रेरित किया था।  उन्होंने बताया कि मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी गयी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग