ताज़ा खबर
 

24 घंटे में आईं एक दर्जन चोटी काटने की सूचनाएं, महिलाओं में फैली दहशत

चोटी काटने की अफवाह राजस्थान और हरियाणा के बाद अब तेजी से दिल्ली में भी फैल रही है।
Author नई दिल्ली/ नोएडा | August 4, 2017 01:11 am

चोटी काटने की अफवाह राजस्थान और हरियाणा के बाद अब तेजी से दिल्ली में भी फैल रही है। बुधवार और गुरुवार को करीब 24 घंटे में करीब एक दर्जन फोन इससे जुड़े मसलों पर पुलिस के पास आए हैं। दिल्ली देहात के लोगों में दहशत का आलम है। जब से यहां पर चोटी काटे जाने की घटना हुई है, तब से महिलाओं में दहशत है। लोग रात नौ बजे के बाद घर से बाहर नहीं निकल रहे हैं।
जानकारी के मुताबिक दिल्ली के मायापुरी इलाके में मां अपनी तीन बेटियों के साथ सो रही थी, लेकिन जब सुबह उनकी आंखें खुली, तो बिस्तर पर पड़े अपने कटे हुए बालों को देखकर वह स्तब्ध रह गर्इं और शोर मचाया। देखते ही देखते खबर आग की तरह फैल गई। मामले की जानकारी पुलिस को दी गई। नजफगढ़ के धमर्पुरा इलाके में भी घर में सो रही एक महिला की चोटी भी रहस्यमयी तरीके से कटी मिली। इन दोनों ही घटनाओं के बाद पूरे इलाके के लोग दहशत में हैं। पुलिस वैज्ञानिक तरीके से जांच का सहारा ले रही है। मौका-ए-वारदातों से फॉरेंसिक साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं। महिलाओं को समझाने के लिए मनोचिकित्सकों की मदद ली जा रही है।

वहीं दूसरी ओर उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा क्षेत्र में भी चोटी काटने का एक मामला सामने आया है। बादलपुर थाना क्षेत्र के तहत अच्छेजा गांव में गुरुवार सुबह 12वीं कक्षा की छात्रा के काफी सिर के बाल कटे हुए मिले। चोटी काटने की खबरों के चलते परिजन दहशत में हैं। बताया गया है कि तीन दिनों पहले भी इसी गांव की एक छात्रा की चोटी काटने की घटना हुई थी।
बाद में यह आपसी रंजिश का मामला निकला और दोनों पक्षों में समझौता हो गया। एसपी देहात सुनीति के मुताबिक मामले को लेकर अभी तक पुलिस से पास कोई शिकायत नहीं आई है। उधर, सूचना मिलने पर बादलपुर थानाध्यक्ष केके राणा ने अच्छेजा गांव में जाकर तफ्तीश की। उन्होंने चोटी या बाल काटे जाने को अफवाह बताया है।अच्छेजा गांव में रहने वाली शिखा नागर (18) 12वीं कक्षा की छात्रा है। बुधवार रात को शिखा घर के बरामदे में सोई थी। बरामदे के चारों तरफ ऊंची चारदीवार बनी हुई है। सुबह उठने पर सिर के काफी बाल कटे हुए मिले। चोटी काटने की बातों के चलते परिजनों ने घबराकर आस-पास के सामान को ध्यान से देखा। गांव के नजदीक ही होटल चलाने वाले शिखा के पिता राजपाल ने बताया कि सामान ज्यों का त्यों था।
साथ ही घर में आने के लिए केवल एक ही गेट है। जो रात भर बंद था। हालांकि कुछ लोगों ने इसे अनहोनी या जादू-टोने से जोड़कर बताने की कोशिश की लेकिन परिजन इसे मानने को तैयार नहीं है। कुछ ने इसे शरारती तत्वों का काम बताया है लेकिन रात में घर के अंदर कैसे किसी ने सिर के बाल काटे, इसका जवाब किसी के पास नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग