ताज़ा खबर
 

सपा नेता रामगोपाल यादव का राहुल गांधी पर कटाक्ष- जिनकी खटिया लुट गई, उनके बारे में क्‍या बोलना

सपा सांसद रामगोपाल यादव ने कहा कि कुछ लोग मुलायम सिंह यादव की सरलता का फायदा उठा रहे हैं।
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी।

उत्तर प्रदेश की समाजवादी पार्टी सरकार और मुलायम सिंह यादव परिवार में राजनीतिक घमासान मचा हुआ है। पिछले तीन दिनों से राजनीतिक घटनाक्रम तेजी से बदल रहे हैं। बयानबाजियों का दौर जारी है। इसी माहौल में सपा सांसद रामगोपाल यादव गुरुवार (15 सितंबर) को पत्रकारों से मुखातिब हुए। पहले तो रामगोपाल ने अपने भाई शिवपाल यादव और भतीजे अखिलेश यादव के बीच जारी सत्ता संघर्ष से जुड़े सवालों का जवाब दिया। उसके बाद जब पत्रकारों ने उनसे कांग्रेस उपाध्यक्ष के “साइकिल का पिछला टायर पंचर है” वाले बयान पर राय पूछी तो पहले तो वो इसे टाल गए। पत्रकारों ने जब सवाल दोहराया तो रामगोपाल ने कहा, “….जिनकी खटिया लुट गई उन पर क्या बोलें?”

रामगोपाल यादव लखनऊ में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात करने के बाद मीडिया से बात कर रहे थे। सपा महासचिव रामगोपाल यादव ने कहा कि कुछ ऐसे लोग हैं जो पार्टी को नुकसान पहुंचा रहे हैं। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव को बिना पूछे प्रदेश अध्यक्ष पद से नहीं हटाया जाना चाहिए था। रामगोपाल यादव ने साफ किया कि गतिरोध दूर करने के लिए मुलायम सिंह यादव जल्द ही अखिलेश यादव से मुलाकात करेंगे। उन्होंने कहा कि अखिलेश और मुलायम सिंह की मुलाकात से ही बात बनेगी। गौरतलब है कि मुलायम सिंह यादव ने भाई रामगोपाल यादव को अखिलेश से बात करने के लिए लखनऊ भेजा था। अखिलेश और रामगोपाल यादव के बीच करीब एक घंटे तक बातचीत हुई।

रामगोपाल यादव ने कहा कि कुछ लोग नेताजी के सीधेपन का फायदा उठा रहे हैं। उन्होंने कहा कि एक व्यक्ति पार्टी का नुकसान करने में लगा है। पार्टी महासचिव ने कहा, पार्टियां नीतियां तय करती है जिस पर सरकार अमल करती है। जब उनसे पत्रकारों ने पूछा कि राहुल गांधी कह रहे हैं कि आपकी साइकिल पंक्चर हो गई है तो रामगोपाल ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि जिनकी खटिया लुट गई हो वो क्या बोलेंगे। इससे पहले कल दिल्ली में शिवपाल यादव ने बेटे आदित्य के साथ मुलायम सिंह यादव के साथ मुलाकात की थी।

सपा की कलह पर बोले रामगोपाल यादव, अखिलेश से बिना पूछे हटाकर शिवपाल को प्रदेश अध्यक्ष बनाना गलत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    ashish
    Sep 15, 2016 at 8:51 am
    खटिया लुटे तो लुटे लुटिया न डूबे|जब परिवार में झगरा लगाने वाला बाहरी .सुलझाने वाला बाहरी तो राम गोपाल जैसे लोगो अपनी हैसियत का अंदाज़ा तो होगा ही
    (0)(0)
    Reply
    1. M
      Mahendra Kumar
      Sep 15, 2016 at 8:47 am
      Congress ki to khatiya hi dubi hai.lekin Baki sab ghatiya partiyon ki to lutiya hi dubne wali hai.jab 2019 ka chunaov jayega?uske Baad to Congress hi Congress aur Congress hi Congress.c Congress hi desh ka beda par karegi.aur kisiki ke bas ki baat nahi hai? Congress ki sarkar lao.desh ko a badhao.aur mazboot babao.2019 me Congress ke haath par muhar lagao.jaat par Na baat par.muhar lagao haath par.
      (0)(0)
      Reply
      1. Sidheswar Misra
        Sep 15, 2016 at 9:44 am
        मायावती से बचने के लिए सुभाष चंद्रा से दोस्ती (बीजेपी ) जरुरी है . आजम भाई समझे यह क्या हो रहा है . समाजवादियो को सीबीआई से बचना है तो सुभाष चन्द्रा से दोस्ती रखना है .
        (0)(0)
        Reply
        सबरंग