ताज़ा खबर
 

ओड़ीशा में मिड डे मील खाने से 230 बच्चे बीमार

ओड़ीशा में मलकानगिरि और कालाहांडी जिलों के विभिन्न स्कूलों में कथित तौर पर मध्याह्न भोजन खाने के बाद 150 लड़कियों सहित कुल 230 बच्चे बीमार पड़ गए।
Author भुवनेश्वर | September 16, 2017 01:06 am
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (मध्याह्न भोजन योजना, फाइल फोटो)

ओड़ीशा में मलकानगिरि और कालाहांडी जिलों के विभिन्न स्कूलों में कथित तौर पर मध्याह्न भोजन खाने के बाद 150 लड़कियों सहित कुल 230 बच्चे बीमार पड़ गए। समेकित जनजातीय विकास एजंसी (आइटीडीए) के परियोजना प्रशासक रामकृष्ण गोंड ने बताया कि मलकानगिरि जिले में चित्रकोंडा इलाके के बाडपाडा में सरकारी आवासीय स्कूल की करीब 150 छात्राएं बीमार पड़ गर्इं। ये लोग कथित तौर पर सुबह का नाश्ता करने के बाद बीमार पड़े।
गोंड ने बताया कि जनजातीय आवासीय स्कूल की पीड़ित छात्राओं को फौरन एक स्थानीय अस्पताल ले जाया गया। घटना की वजह का पता लगाने के लिए जांच जारी है।

गोंड के अलावा, मलकानगिरि जिला कलेक्टर के सुदर्शन चक्रवर्ती ने छात्राओं की स्थिति के बारे में जानकारी पाने के लिए अस्पताल का दौरा किया। अस्पताल में उन सबका इलाज किया जा रहा है। अधिकारियों ने बताया कि इसी तरह की घटनाएं कालाहांडी जिले में भी दर्ज की गई, जहां लांजीगढ़ ब्लॉक के पांच स्कूलों के 80 छात्र गुरुवार को कथित तौर पर मध्याह्न भोजन खाने के बाद बीमार पड़ गए। पीड़ित छात्रों को बिश्वनाथपुर अस्पताल ले जाया गया और उनमें से दो को भवानी पाटना सरकारी अस्पताल ले जाया गया।

अधिकारियों ने बताया कि लांजीगढ़ ब्लॉक के 176 स्कूलों के लिए मध्याह्न भोजन एक ट्रस्ट बनाता है और आपूर्ति करता है। पकाया हुआ भोजन वाहनों के जरिए विभिन्न स्कूलों को भेजा गया था। जिला शिक्षा अधिकारी (डीइओ), सब कलेक्टर और तहसीलदार ने स्थिति की निगरानी करने के लिए बिश्वनाथपुर का दौरा किया। डीइओ प्रदीप कुमार नाईक ने बताया कि पांच स्कूलों के 80 से अधिक बच्चे विषाक्त भोजन खाकर बीमार हुए हैं और उनका इलाज किया जा रहा है। उनमें से कई को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। उन्होंने बताया कि हालात काबू में हैं और पीड़ित छात्रों की हालत सुधर रही है। कालाहांडी कलेक्टर अंजन कुमार माणिक ने बताया कि जांच की जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.