ताज़ा खबर
 

NRI हत्याकांड के मामले में पत्नी और दोस्त गिरफ्तार

सुखजीत की पत्नी और दोस्त के बीच प्रेम प्रसंग था।
Author शाहजहांपुर | September 5, 2016 03:52 am
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

पुलिस ने एनआरआइ सुखजीत सिंह की हत्या के मामले में उसके दोस्त गुरप्रीत सिंह और पत्नी रमनदीप कौर को गिरफ्तार कर लिया है। अभियुक्त गुरप्रीत दुबई जाने के लिए दिल्ली एयरपोर्ट पहुंच गया था। पुलिस ने ऐन वक्त पर उसे गिरफ्तार किया और उसे बंडा लाया गया है। सुखजीत की पत्नी और दोस्त के बीच प्रेम प्रसंग था। पत्नी ने नींद की गोलियां देकर घर के सभी सदस्यों को सुला दिया था। फिर पत्नी और दोस्त ने हथौड़े से वार करने के बाद चाकू से गला काट कर सुखजीत की हत्या कर दी थी। पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल हथियार बरामद कर लिए हैं।

पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार ने रविवार को बताया कि गत एक सितंबर को ब्रिटिश नागरिक सुखजीत सिंह उर्फ सोनू (34) की बसंतापुर गांव स्थित उसके पुश्तैनी घर में सोते समय गला काट कर हत्या कर दी गई थी। अगले दिन दो सितंबर को अभियुक्त दुबई की उड़ान पकड़ने के लिए दिल्ली एयरपोर्ट पहुंच गया था। इसी दौरान शाहजहांपुर पुलिस ने दिल्ली पुलिस को अभियुक्त के बारे में सूचित किया। दिल्ली पुलिस ने उड़ान भरने से ऐन पहले अभियुक्त को हिरासत में ले लिया। अभियुक्त को बंडा लाया गया है। अभियुक्त गुरप्रीत की निशानदेही पर हत्या में हथौड़ा और चाकू बरामद कर लिया गया है। गिरफ्तार अभियुक्तों को न्यायालय में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा।

अभियुक्त गुरप्रीत पंजाब के कपूरथला की तहसील सुल्तानपुर लोधी के गांव जैनपुर का रहने वाला है। सुखजीत और गुरप्रीत जालंधर के स्कूल में साथ पढ़ते थे। दोनों गहरे दोस्त थे। इसके बाद सुखजीत इंग्लैंड और गुरप्रीत सिंह दुबई जाकर काम करने लगे थे। अलग-अलग देशों में रहने के बाद भी दोनों की दोस्ती बरकरार रही। गुरप्रीत अक्सर इंग्लैंड और सुखजीत दुबई आकर एक दूसरे के यहां रुकते थे। पुलिस सूत्रों ने बताया कि इस वर्ष जुलाई के प्रथम सप्ताह में सुखजीत पत्नी रमनदीप कौर और दो पुत्रों के साथ दोस्त गुरप्रीत के घर दुबई पहुंचा। वह गुरप्रीत के घर 15 दिन तक रहा और 28 जुलाई को गुरप्रीत के साथ भारत आया। इसके बाद सुखजीत का परिवार और गुरप्रीत राजस्थान के विभिन्न स्थानों, आगरा, रीठा साहिब सहित तमाम पर्यटन और धार्मिक स्थलों पर घूमते रहे। सुखजीत 15 अगस्त को अपने दोस्त के साथ अपने फार्म हाउस पर मां के पास बसंतापुर आ गया। इसी बीच रमनदीप कौर और गुरप्रीत ने सुखजीत को रास्ते से हटाने की साजिश रची।

साजिश के अनुसार गुरप्रीत सिंह दुबई जाने का बहाना कर बसंतापुर से चला गया, लेकिन दुबई नहीं गया था। गुरप्रीत 1 सितंबर को पंजाब से शाहजहांपुर आया और यहां स्थानीय होटल में रुका। उसी शाम को रमनदीप कौर ने घर में बनी दाल में नींंद की गोलियां मिला कर अपने पति व अपनी सास को खिला दी। इस क्रम में घर के कुत्तों को भी खाने में नींद की गोलियां दे दी गर्इं। मध्य रात्रि में रमनदीप कौर ने फोन के जरिये गुरप्रीत को बताया कि सभी सो गए हैं, तुम घर आ जाओ। रमनदीप ने घर का दरवाजा खोला। दोनों ने सोते हुए सुखजीत के सिर पर हथौड़े से सिर पर दो बार वार किए और चाकू से गला काट कर हत्या कर दी। मृतक की चीख को रोकने के लिए उसके मुंह को तकिए से दबा दिया गया था।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग