December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

सपा के मुस्लिम MLC आशु मलिक का मुख्यमंत्री अखिलेश के आरोपों से इनकार, कहा- कभी नहीं कहा औरंगजेब

आशु मलिक को शिवपाल यादव और मुलायम सिंह यादव का करीबी माना जाता है। पश्चिमी यूपी में आशु मलिक को पार्टी का मुस्लिम चेहरा के तौर पर जाना जाता है।

समाजवादी पार्टी के विधान पार्षद आशु मलिक

समाजवादी पार्टी के विधान पार्षद आशु मलिक ने साफ किया है कि उन्होंने कभी भी मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को औरंगजेब और पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव को शाहजहां नहीं कहा है। आज की बैठक में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आशु मलिक का नाम लिया था कि उन्होंने अमर सिंह के इशारे पर एक अखबार में औरंगजेब छपवाया था। इसके साथ ही आशु मलिक ने आरोप लगाया कि मंत्री पवन पांडे ने आज उन्हें सीएम आवास पर चांटा मारा। मलिक ने अपनी जान को खतरा भी बताया है। इससे पहले आशु मलिक ने सीएम आवास जाकर अखिलेश यादव से मुलाकात की। इस बीच खबर है कि प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने अखिलेश समर्थक 10 युवा नेताओं को पार्टी से बाहर निकाल दिया है।

आशु मलिक को शिवपाल यादव और मुलायम सिंह यादव का करीबी माना जाता है। पश्चिमी यूपी में आशु मलिक को पार्टी का मुस्लिम चेहरा के तौर पर जाना जाता है। साल 2014 में पार्टी ने उन्हें एमएलसी बनाया था लेकिन इस सत्ता संघर्ष और पारिवारिक विवाद में आशु मलिक खलनायक बनकर उभरे हैं। सूत्र बताते हैं कि अखिलेश समर्थकों के शिवपाल के खिलाफ लेटर वार का जवाबी जिम्मा इन्होंने ही संभाल रखा था।

वीडियो देखिए- समाजवाद पर भारी परिवारवाद

आशु मलिक के कद का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि हाशिमपुरा कांड के पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए आशु मलिक ने ही उन्हें सीएम से मिलवाया और 5-5 लाख का मुआवजा दिलवाया। दादरी कांड के पीड़ित परिवार को लखनऊ ले जाने की कमान भी आशु मलिक ने ही संभाली थी। पिछले कुछ महीने पहले गाजियाबाद में हज हाउस के उद्घाटन के बाद आजम खान के खिलाफ आशु मलिक ने मोर्चा भी खोला था।

Read Also- वीडियो में देखिए कैसे अखिलेश यादव और चाचा शिवपाल में हुई धक्‍कामुक्‍की, चुपचाप देखते रहे मुलायम

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 24, 2016 6:15 pm

सबरंग