ताज़ा खबर
 

नीतीश ने जेटली को लिखा पत्र, कहा- विशेष सहायता की बाकी रकम वित्तीय वर्ष में दी जाए

नीतीश ने अपने पत्र में लिखा कि राज्य सरकार ने 12वीं पंचवर्षीय योजना के तहत वित्तीय वर्ष 2016-17 के लिए 5091.52 करोड़ रुपए का प्रस्ताव नीति आयोग को भेजा है।
Author पटना | June 1, 2016 23:11 pm
बिहार सरकार के मंत्रियों ने अपनी संपत्ति का सार्व​जनिक ब्यौरा दिया है। (फाइल फोटो)

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बीआरजीएफ के अंतर्गत विशेष सहायता की बाकी बची 6359.19 करोड़ रुपए की राशि वर्तमान वित्तीय वर्ष में ही जारी किए जाने के लिए केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को पत्र लिखा है। जेटली को मंगलवार को लिखे पत्र में नीतीश ने कहा कि 12वीं पंचवर्षीय योजना 2012-17 के तहत पुरानी और वर्तमान में जारी विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए विशेष योजना के तहत 12000 करोड़ रुपए की राशि स्वीकृत की गई थी। उन्होंने कहा कि 12000 करोड़ रुपए की स्वीकृत राशि में से 10,500 करोड़ रुपए नई परियोजनाओं तथा 1500 करोड़ रुपए पुरानी जारी योजनाओं के हैं।

नीतीश ने अपने पत्र में लिखा कि योजना आयोग ने ऊर्जा क्षेत्र की आठ योजनाओं (8308.67 करोड़ रुपए) तथा सड़क से जुड़ी एक योजना (1289.25 करोड़ रुपए) समेत 9597 करोड़ रुपए की नौ योजनाएं स्वीकृत की थीं। नीति आयोग के समक्ष 902.08 करोड़ रुपए की परियोजनाएं स्वीकृति के लिए लंबित हैं। उन्होंने लिखा है कि 2012-13 से 2015-16 के दौरान 5604.81 करोड़ रुपए की राशि जारी की गई थी जिसमें 4599.15 करोड़ रुपए नई परियोजनाओं तथा 1005.66 करोड़ रुपए वर्तमान में जारी परियोजनाओं से जुड़ी हैं।

नीतीश ने अपने पत्र में लिखा है कि 10वीं और 11वीं पंचवर्षीय योजना के तहत लंबित परियोजनाओं के लिए जारी 1005.66 करोड़ रुपए में से 818.96 करोड़ रुपए खर्च किए तथा 719.29 करोड़ रुपए का उपयोगिता प्रमाण पत्र नीति आयोग को भेज दिया गया है। लंबित परियोजनाएं प्रभावित न हो, इसके लिए राज्य सरकार ने अपने सीमित संसाधन से अतिरिक्त 389.31 करोड़ रुपए का भार आया है। उन्होंने अपने पत्र में लिखा कि राज्य सरकार ने नई और पुरानी जारी परियोजनाओं के लिए वर्ष 2015-16 के लिए 5365.44 करोड़ रुपए का प्रस्ताव नीति आयोग को भेजा है।

नीतीश ने अपने पत्र में लिखा कि राज्य सरकार ने 12वीं पंचवर्षीय योजना के तहत वित्तीय वर्ष 2016-17 के लिए 5091.52 करोड़ रुपए का प्रस्ताव नीति आयोग को भेजा है, जिसमें 4998.78 करोड़ रुपए नई परियोजनाओं तथा 92.74 करोड़ रुपए पुरानी लंबित परियोजनाओं के हैं। उन्होंने अपने पत्र में लिखा कि 12वीं पंचवर्षीय योजना के तहत लंबित 6395.19 करोड़ रुपए में से 4998.77 करोड़ रुपए नई परियोजनाओं के, 494.34 करोड़ रुपए की पुरानी परियोजनाओं तथा नीति आयोग के समक्ष स्वीकृति के लिए लंबित 902.08 करोड़ रुपए की परियोजनाएं शामिल हैं।

नीतीश ने अपने पत्र में लिखा कि 2016-17 के 12वीं पंचवर्षीय योजना का अंतिम वर्ष होने के नाते 6395.19 करोड़ रुपए इसी वित्तीय वर्ष में जारी किया जाए, नहीं तो इसमें किसी प्रकार की देरी होने से यह बिहार के विकास के लिए हानिकारक होगा एवं योजना लागत भी बढेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग