ताज़ा खबर
 

मुंबई में नीतीश कुमार ने राज ठाकरे पर साधा निशाना, कहा-जिन्होंने कभी बिहार दिवस का विरोध किया वो अब शांत पड़ गए

बिहार के मुख्यमंत्री ने कहा कि वह अपनी उपलब्धियों का प्रचार करने की आवश्यकता नहीं महसूस करते।
मुंबई में शनिवार (22 अप्रैल) को मैथिली समन्वय समिति के कार्यक्रम में शिरकत करते नीतीश कुमार (Photo source-PTI)

मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे पर निशाना साधते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार (22 अप्रैल) को कहा कि जिन लोगों ने मुंबई में बिहार स्थापना दिवस समारोह का कभी विरोध किया था, वो अब शांत हो गए हैं। मैथिली समन्वय समिति द्वारा आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि बिहारियों ने देश में हर जगह अपने ज्ञान और क्षमताओं से नाम कमाया। कुमार ने कहा, ‘‘देशभर के लोग बिना बिहारियों के कोई काम नहीं करा सकते। नीतीश ने कहा कि, ‘बिहार के लोग किसी पर निर्भर नहीं हैं और न ही वे किसी पर बोझ हैं।’’ उन्होंने राज ठाकरे का नाम लिए बिना कहा, ‘‘कुछ लोगों ने यहां बिहार स्थापना दिवस का विरोध किया। अब वे शांत पड़ गए हैं।’’

कुमार 2012 में शहर में 100 वें बिहार स्थापना दिवस समारोह मनाने के लिए मुंबई में बिहारियों के खिलाफ ठाकरे द्वारा चलाए गए अभियान का उल्लेख कर रहे थे। कुमार ने तब कहा था कि उन्हें मुंबई में आने के लिए वीजा की आवश्यकता नहीं है।मनसे की राजनैतिक ताकत अब काफी घट गई है। 2009 में महाराष्ट्र विधानसभा में मनसे के सीटों की संख्या 13 थी। पार्टी का अब सिर्फ एक विधायक है जबकि मुंबई नगर निगम में उसके सीटों की संख्या 28 से घटकर सात रह गई है।बिहार के मुख्यमंत्री ने कहा कि वह अपनी उपलब्धियों का प्रचार करने की आवश्यकता नहीं महसूस करते। उनके राज्य में बदलाव खुद महसूस किया जा रहा है।उन्होंने कहा, ‘‘हम किसी की नकल नहीं करते। हमारे विकास के काम को देखा जा रहा है।’’ समाज में आखिरी व्यक्ति तक विकास पहुंचे इस बात को सुनिश्चित करने के लिए सभी क्षेत्रों के विकास की आवश्यकता है।’’

बता दें कि 2012 में मुंबई में राज ठाकरे की पार्टी मनसे के नेतृत्व में बिहार के लोगों का जबर्दस्त विरोध हुआ था। मुंबई समेत महाराष्ट्र के कई इलाकों में परीक्षा देने आए बिहार के छात्रों पर हमला किया गया था। यही नहीं मुंबई में काम करने वाले बिहारियों को भी निशाना बनाया गया था।

पप्‍पू यादव ने किया नीतीश कुमार का चरित्रहनन, कहा- कैशलेस का समर्थन करते हैं और खुद पैसे देकर मनसुख, नयनसुख लेते हैं

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.