April 29, 2017

ताज़ा खबर

 

दिल्ली नगर निगमों के बजट का 40% आता है ग्रांट से, कमाई का 40% जाता है वेतन में, शिक्षा-स्वास्थ्य पर खर्च में मुंबई से काफी पीछे

वित्त वर्ष 2014-15 में दिल्ली के नगर निगमों का कुल बजट 9551 करोड़ रुपये था। उस साल दिल्ली नगर निगमों का प्रति व्यक्ति खर्च 5340 रुपये था।

दिल्ली में एमसीडी चुनावों के मद्देनजर लगाए गए पोस्टर। (EXPRESS PHOTO)

दिल्ली के तीन नगर निगमों के लिए 23 अप्रैल को मतदान होंगे। भाजपा, कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, जनता दल (एकीकृत), राष्ट्रीय जनता दल, समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी इत्यादि दलों के साथ ही ढेरों निर्दलीय उम्मीदवार चुनावी अखाड़े में उतर चुके हैं। हर दल आम मतदाताओं को लुभाने के लिए बड़े-बड़े वादे कर रहा है। लेकिन क्या सचमुच इन वादों को कोई निभाएगा? और अगर कोई निभाना भी चाहे तो क्या दिल्ली नगर निगमों के पास इतने संसाधन हैं कि वो इन्हें निभा सके?

इस सवाल का जवाब पाने के लिए दिल्ली नगर निगमों की कमायी और खर्च की तुलना देश की सबसे अमीर नगर पालिका बृहन्मुंबई नगर पालिका (बीएमसी) से की जा सकती है। वित्त वर्ष 2014-15 में दिल्ली के नगर निगमों का कुल बजट 9551 करोड़ रुपये था। दिल्ली की आबादी को देखते हुए यह राशि 5340 रुपये प्रति व्यक्ति हुई। नगरनिगम के बजट की करीब 40 प्रतिशत राशि कर्मचारियों, पार्षदों की तनख्वाह और दफ्तर खर्च देने में खर्च हुई। कूड़ा उठाने, सफाई करे इत्यादि पर प्रति व्यक्ति केवल 1258 रुपये खर्च हुआ । स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े मदों में प्रति व्यक्ति खर्च केवल 758 रुपये रहा।

वित्त वर्ष 2016-17 में बीएमसी का सालाना बजट 37,052 करोड़ रुपये था। यानी बीएमसी का सालाना बजट दिल्ली नगर निगमों के संयुक्त बजट से पांच गुने से भी ज्यादा है। बीएमसी दिल्ली की तुलना में स्वास्थ्य मद में तीन गुना ज्यादा और शिक्षा मद में दो गुना ज्यादा प्रति व्यक्ति खर्च करता है। बीएमसी के अंदर रहने वाली आबादी दिल्ली नगर निगमों के आने वाली जनसंख्या से कम है। दिल्ली के केंद्रशासित प्रदेश होने के कारण यहां के नगर निगम बीएमसी की तरह चुंगी कर, विकास कर और संपत्ति कर इत्यादि नहीं लेता। दिल्ली नगर निगमों की करीब 40 प्रतिशत आय राज्य सरकार के अनुदानों से होती है। मुंबई में जल आपूर्ति से बीएमसी को अच्छी कमायी होती है। दिल्ली में जल आपूर्ति के लिए अलग विभाग है।

आइए 2015 के आंकड़ों की रोशनी में  देखें दिल्ली और मुंबई नगर निगम का फर्क-

आय का स्रोत (प्रतिशत में)

दिल्ली- संपत्ति और बिजली कर – 1.4, टैक्स – 40.4 प्रतिशत, अन्य – 1.2 प्रतिशत, दिल्ली सरकार – 39.4, अन्य स्थानांतरण 1.7 प्रतिशत

मुंबई- चुंगी शुल्क और टैक्स- 76.8, स्वास्थ्य – 0.9, शिक्षा- 3.1, पानी – 18.6, अन्य- 0.6,

जनसंख्या

दिल्ली – 1.78 करोड़, मुंबई- 1.25 करोड़

प्रति व्यक्ति खर्च (रुपये में)

दिल्ली- 5340 , मुंबई- 26,135

शिक्षा पर प्रति व्यक्ति खर्च (रुपये में)

दिल्ली- 1127, मुंबई- 2144

स्वास्थ्य पर प्रति व्यक्ति खर्च (रुपये में)

दिल्ली- 718 रुपये, मुंबई- 2344 रुपये

पानी पर प्रति व्यक्ति खर्च (रुपये में)

दिल्ली- -4, मुंबई- 4941

वीडियो: अरविंद केजरीवाल की चुनाव आयोग से मांग- "ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से करवाए जाएं MCD चुनाव"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on April 21, 2017 1:24 pm

  1. No Comments.

सबरंग