ताज़ा खबर
 

दिल्ली: यौन उत्पीड़न की शिकार शिक्षिका ने दी धरने की चेतावनी

तंवर ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल को भी आड़े हाथ लिया।
Author नई दिल्ली | February 1, 2017 01:24 am
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

दिल्ली भाजपा के नेता और एनडीएमसी के उपाध्यक्ष करण सिंह तंवर ने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखकर कहा है कि एक शिक्षिका के यौन उत्पीड़न के मामले में दिल्ली कैंट बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के खिलाफ अगर दस दिन में पुलिस ने शिकायत दर्ज नहीं की, तो वे कैंट बोर्ड के बाहर धरने पर बैठ जाएंगे। यह चेतावनी उन्होंने मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस में दी। इस मौके पर शिकायतकर्ता शिक्षिका भी मौजूद थी।  तंवर ने दुख व हैरानी जताते हुए कहा कि शिक्षिका ने 30 दिसंबर 2016 को तत्कालीन दिल्ली पुलिस आयुक्त आलोक वर्मा से दिल्ली कैंट बोर्ड के सीईओ के खिलाफ शारीरिक व यौन शोषण की शिकायत की थी और पुलिस आयुक्त ने इस मसले को गंभीरता से लेते हुए संबंधित जांच के लिए यह मामला संयुक्त पुलिस आयुक्त दीपेंद्र पाठक को भेज दिया था। इसके बाद पुलिस अधिकारियों ने इस मामले को दिल्ली कैंट के एसएचओ को भेज दिया। तभी से यह मामला लंबित पड़ा है।

मौके पर मौजूद शिक्षिका ने बताया कि दिल्ली कैंट के एसएचओ ने आज तक इस मामले पर कार्रवाई करना तो दूर उनका बयान लेना भी उचित नहीं समझा।
तंवर ने आरोप लगाया कि दिल्ली कैंट के सीईओ ने पीड़ित महिला को इतना प्रताड़ित किया है कि उनका जीवन नरक समान हो गया है। अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर सीईओ पीड़ित शिक्षिका को धमकी भी दे रहे थे कि वह समझौता कर अपनी शिकायत वापस ले ले। इसी वजह से शिक्षिका की ओर से 24 जनवरी 2017 को दिल्ली पुलिस आयुक्त को लिखे पत्र में कहा गया कि अगर जल्द ही उसे इस मामले में न्याय नहीं मिला तो मजबूरन उसे कैंट बोर्ड के बाहर धरना देना पड़ेगा।

तंवर ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल को भी आड़े हाथ लेते हुए कहा कि मुख्यमंत्री केजरीवाल व उनकी सरकार महिलाओं की सुरक्षा, यौन उत्पीड़न, बलात्कार, घरेलू हिंसा व प्रताड़ना की रोकथाम के वादे करती है, लेकिन इस शिक्षिका के यौन शोषण मामले में 15 दिन पहले शिकायत करने के बावजूद अभी तक किसी नतीजे पर न पहुंचना उनकी कथनी व करनी की केवल पोल ही नहीं खोलता बल्कि केजरीवाल सरकार के असली चेहरे को भी उजागर करता है। यही नहीं, इस मामले में स्वाति मालीवाल का चुप्पी साधना भी एक बड़ा रहस्य बना हुआ है, जो महिलाओं के प्रति उनकी मानसिकता बताता है।.

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.