March 26, 2017

ताज़ा खबर

 

गुलाबी हिस्सा खत्म, चढ़ेगा मार्च का पारा, 23 मार्च को अधिकतम तापमान 34 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना

आधे मार्च तक अधिकतम और न्यूनतम तापमान दोनों सामान्य से कम रहे। होली भी हल्की ठंड में गुजरी। साथ ही इस महीने अच्छी बारिश भी हुई।

Author नई दिल्ली | March 20, 2017 03:37 am
मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि उत्तर प्रदेश, दिल्ली में अभी गर्मी का प्रकोप अभी और बढ़ने की संभावना है।

फरवरी में दिल्लीवासियों को अपनी गर्मी का तेवर दिखा चुका मौसम मार्च में अभी तक खुशनुमा बना रहा। लेकिन मौसम एजंसियों के अनुसार कई दिनों से सामान्य से कम रह रहे तापमान में बढ़ोतरी होगी जिससे मार्च के शेष दिनों में पारे में तेजी आएगी और अधिकतम तापमान 35 डिग्री से ऊपर जा सकता है, जबकि कुछ-एक दिन तापमान 38 डिग्री भी पहुंच सकता है। भारतीय मौसम विभाग (आइएमडी) के मुताबिक, 23 मार्च को अधिकतम तापमान 34 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। दूसरे शब्दों में, गर्मी के मौसम के स्वागत की तैयारी शुरू करने का समय आ चुका है।

मार्च की शुरुआत गुलाबी ठंड और खुशनुमा मौसम के साथ हुई। आधे मार्च तक अधिकतम और न्यूनतम तापमान दोनों सामान्य से कम रहे। होली भी हल्की ठंड में गुजरी। साथ ही इस महीने अच्छी बारिश भी हुई। वैसे सामान्यत: पालम मौसम केंद्र पर मार्च में 13.2 मिमी बारिश दर्ज की जाती है, लेकिन इस साल 18 मार्च तक ही 22.7 मिमी बारिश दर्ज की गई। बारिश ने मौसम के खुशनुमा बने रहने में अपना भरपूर योगदान दिया। लेकिन, अब मौसम में बदलाव शुरू हो चुका है, पारे में तेजी आनी शुरू हो चुकी है। निजी मौसम एजंसी स्काईमेट के मुताबिक, मार्च के शेष दिनों में तापमान 35 डिग्री सेल्सियस से ऊपर जा सकता है। स्काईमेट ने यह भी कहा है, ‘कुछ दिन अधिकतम तापमान के 38 डिग्री सेल्सियस के आसपास बने रहने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है’। भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक, ‘20 मार्च को अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस का आंकड़ा छू लेगा और उसके बाद इस आंकड़े को पार कर लेगा, उसके बाद 23 मार्च को अधिकतम तापमान 34 डिग्री सेल्सियस रह सकती है। वहीं 19 मार्च को अधिकतम तापमान सामान्य से 1 डिग्री कम 29.8 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान सामान्य से 1 डिग्री कम 15.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया’।

मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जताया है कि 2017 में लोगों को सामान्य से अधिक गर्मी का सामना करना पड़ सकता है। आइएमडी ने इस साल मानसून पूर्व के महीनों मार्च से मई तक के संभावित मौसम का हाल जारी करते हुए कहा है कि इस दौरान देश के लगभग सभी भागों में तापमान सामान्य से अधिक रहेगा, वहीं उत्तर पश्चिम भारत में तापमान के सामान्य से कुछ ज्यादा ही अधिक रहने की संभावना है। इसका आगाज जनवरी 2017 से हो चुका है जो 1901 से अभी तक का आठवां सबसे गर्म साल पहला महीना रहा। वहीं वर्ष 2016 पिछले एक सौ पंद्रह सालों का सबसे गर्म साल रहा। अर्थात, दिल्ली-एनसीआर के लोगों को न केवल गर्मी बल्कि प्रचंड गर्मी के लिए भी तैयार रहने की जरूरत है।

 

बजट सैशन से पहले प्रधानमंत्री मोदी बोले- "उम्मीद है GST पर सफलता मिलेगी"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on March 20, 2017 3:37 am

  1. No Comments.

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग