ताज़ा खबर
 

विजय गोयल का ‘स्लम गोद अभियान’: झुग्गी गोद अभियान के तहत दिल्ली ने लगाई सार्थक दौड़

पीतमपुरा में आयोजित हुई तीसरी दौड़ में स्लम बस्तियों में रहने वाले हजारों लोगों ने उत्साह के साथ भाग लिया।
Author नई दिल्ली | June 26, 2017 02:34 am
खेलमंत्री विजय गोयल

केंद्रीय युवा कार्यक्रम और खेल मंत्री विजय गोयल का ‘स्लम गोद अभियान’ आंदोलन की तरह चलाया जा रहा है। रविवार को पीतमपुरा में आयोजित हुई तीसरी दौड़ में स्लम बस्तियों में रहने वाले हजारों लोगों ने उत्साह के साथ भाग लिया। कस्तूरबा गांधी पॉलेटेक्निक से पीतमपुरा स्पोर्टस कॉम्पलेक्स तक लगभद दो किलोमीटर की दौड़ का आयोजन किया गया था। इस दौड़ में युवाओं का जोश देखने लायक था। स्लम के युवाओं को संबोधित करते हुए विजय गोयल ने कहा कि, वैसे तो जीवन में हम हर रोज दौड़ते हैं लेकिन एक विशेष उद्देश्य के लिए दौड़ना जीवन को सार्थकता देता है। उन्होंने स्लम के युवाओं का आभार जताते हुए भरोसा दिलाया कि उनके दरवाजे हमेशा खुले हैं जब भी उन्हें किसी भी तरह की जरूरत हो वो बेहिचक उनसे मिलने आ सकते हैं।

पूर्वी दिल्ली के सांसद केंद्रीय विज्ञान एवं तकनीकी और पर्यावरण मंत्री डॉक्टर हर्ष वर्धन ने गोयल के अभियान की प्रशंसा की। उन्होंने स्लम के युवाओं को आह्वान किया कि वो सुबह जल्दी उठने की आदत डालें और दिल्ली के पर्यावरण को बचाने के लिए पौधे लगाएं । डॉक्टर हर्ष वर्धन ने कहा कि दिल्ली के स्लम को विकास की मुख्यधारा से जोड़ने की विजय गोयल की पहल में वो भरपूर सहयोग देंगे।इस अवसर पर पहलवान सुशील कुमार भी मौजूद थे। उन्होंने स्लम के युवाओं को बताया कि ये केवल एक दौड़ नहीं है बल्कि विकास की दौड़ है। विकास का रास्ता कठिन परिश्रम से ही जाता है।

इसलिए स्लम के युवा कठिन परिश्रम की आदत डालें। उन्होंने कहा कि आप में से बहुत से लोग कल के भारत के बेहतरीन खिलाड़ी और एथलीट बन सकते हैं। भाजपा के पदाधिकारी भी रविवार की सुबह स्लम दौड़ के साक्षी बनें । राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, दिल्ली एवं उत्तराखंड प्रभारी श्याम जाजू ने कहा कि केंद्रीय युवा कार्यक्रम और खेल मंत्री विजय गोयल ने नेहरू युवा केंद्र के सहयोग से ये जो स्लम दौड़ शुरू की है वो दिल्ली के विकास की दौड़ है। उन्होंने खुशी जताई कि स्लम के सभी युवा केंद्र सरकार की सभी योजनाओं के बारे में जानते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग