ताज़ा खबर
 

दिल्ली: चिकनगुनिया से एक और मौत, अब तक छह मरे

कबीर नगर निवासी इशा की एक सितंबर को मौत हो गई थी। सर गंगाराम अस्पताल में चिकनगुनिया से पीड़ित चार बुजुर्गों की मौत हो चुकी है।
Author नई दिल्ली | September 15, 2016 07:46 am
चिकनगुनिया।

दिल्ली के निजी अस्पताल में गाजियाबाद निवासी 80 वर्षीय बुजुर्ग की चिकनगुनिया से मौत हो गई। इससे राष्ट्रीय राजधानी में मच्छर जनित इस बीमारी से मरने वालों की संख्या छह हो गई है। दिल्ली में इस मौसम में चिकनगुनिया के अब तक 1,000 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं।गाजियाबाद से ताल्लुक रखने वाले दूसरे व्यक्ति महेंद्र सिंह की मंगलवार दोपहर बाद दक्षिण दिल्ली स्थित अपोलो अस्पताल में मौत हो गई थी। यह व्यक्ति आरटी-पीसीआर परीक्षण में चिकनगुनियापॉजीटिव पाया गया था। बीमारी की वजह से विभिन्न अंगों के काम बंद कर देने के कारण उसकी मौत हो गई थी। यहां स्थित सर गंगाराम अस्पताल में मंगलवार शाम मथुरा निवासी 75 वर्षीय प्रकाश कालरा की मौत हो गई थी। अस्पताल के अधिकारियों ने कहा, ‘उसे बीमारी के गंभीर चरण में हमारे अस्पताल में लाया गया था, जिसके गुर्दों ने काम करना बंद कर दिया था। उसे मंगलवार को गहन चिकित्सा कक्ष में भर्ती कराया गया और आरटी-पीसीआर परीक्षण पॉजीटिव पाया गया।’

मंगलवार को चार व्यक्तियों के मरने की खबर मिली। मरने वालों में 22 वर्षीय लड़की भी शामिल है जिसकी हिन्दूराव असपताल में चिकनगुनिया के चलते दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। कबीर नगर निवासी इशा की एक सितंबर को मौत हो गई थी। सर गंगाराम अस्पताल में चिकनगुनिया से पीड़ित चार बुजुर्गों की मौत हो चुकी है। सोमवार को सर गंगाराम अस्पताल में 65 वर्षीय रामेंद्र पांडेय की चिकनगुनिया से मौत हो गई थी। पांडेय को गाजियाबाद के अस्पताल से सर गंगाराम अस्पताल रेफर किया गया था जिसकी चिकनगुनिया से सेप्सिस होने के चलते सुबह चार बजे मौत हो गई थी। द्वारका निवासी उदय शंकर (61) को 11 सितंबर को सर गंगाराम अस्पताल में भर्ती कराया गया था और 12 सितंबर को उसकी मौत हो गई। अलीगढ़ निवासी अशोक चौहान (62) की भी सोमवार को चिकनगुनिया से मौत हो गई थी। उसे भी 11 सितंबर को गहन चिकित्सा कक्ष में भर्ती कराया गया था और उसका आरटी-पीसीआर परीक्षण पॉजीटिव पाया गया था।

चिकित्सकों का कहना है कि चिकनगुनिया से आमतौर पर मरीज की जान नहीं जाती है, लेकिन दुर्लभ मामलों में जटिलताएं उत्पन्न हो जाती हैं, खासकर बच्चों और बजुर्गों में। इस बीच, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) से भी संदिग्ध चिकनगुनिया से एक व्यक्ति के मरने की खबर है। खबरों के अनुसार एम्स में ‘चिकनगुनिया से मौत’ से सितंबर में किसी दिन हुई। नगर निगम से मंगलवार को जारी रिपोर्ट के अनुसार 10 सितंबर तक चिकनगुनिया के कम से कम 1,057 मामले सामने आए हैं। अस्पतालों में कुल मिला कर काफी संख्या में मामले आ रहे हैं। एम्स के माइक्रोबॉयलॉजी विभाग के ललित डार के अनुसार 11 सितंबर तक ‘हमारी प्रयोगशालाओं में परीक्षण के लिए आए रक्त के नमूनों में से 1,360 नमूने पॉजीटिव पाए गए हैं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग