December 02, 2016

ताज़ा खबर

 

शीला दीक्षित के दामाद 2 दिन की पुलिस हिरासत में, पत्नी की संपत्ति की चोरी और हेरफेर का आरोप

लतिका ने आरोप लगाया था कि दिल्ली विधानसभा में उनकी मां शीला दीक्षित की हार के बाद इमरान का रवैया उनके (लतिका) प्रति बदल गया।

Author नई दिल्ली | November 15, 2016 19:20 pm
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के दामाद को पत्नी की संपत्ति की चोरी तथा हेरफेर के आरोप में एक स्थानीय अदालत ने मंगलवार (15 नवंबर) को दो दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया। बेंगलुरु से गिरफ्तार सैयद मोहम्मद इमरान को ट्रांजिट रिमांड पर यहां लाने के बाद मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट पंकज शर्मा के समक्ष पेश किया गया जिन्होंने उसे 17 नवंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया। दिल्ली पुलिस ने यह कहते हुए इमरान की दो दिन की हिरासत मांगी कि उसे वे चीजें बरामद करनी हैं जिनकी उसने कथित तौर पर चोरी की है। इमरान की ओर से पेश हुए वकीलों…पी. बनर्जी तथा नीरज कुमार ने पुलिस के इस अनुरोध का विरोध किया और कहा कि जांच एजेंसी ने सीआरपीसी के प्रावधानों का उल्लंघन किया है और उनके मुवक्किल को हिरासत से रिहा किया जाना चाहिए। वकील ने तर्क दिया कि इस मामले में आरोपी की गिरफ्तारी आवश्यक नहीं है और पुलिस को उसे सक्षम अधिकारी के समक्ष पेश होने का नोटिस देना चाहिए था। पुलिस के अनुसार शीला दीक्षित की बेटी लतिका ने अलग रह रहे पति पर यह भी आरोप लगाया था कि उसने उनके साथ हिंसा की।

लतिका और इमरान की शादी 1996 में हुई थी, लेकिन वे पिछले 10 महीने से अलग रह रहे हैं। जून में दायर अपनी शिकायत में लतिका ने आरोप लगाया था कि दिल्ली विधानसभा में उनकी मां शीला दीक्षित की हार के बाद इमरान का रवैया उनके (लतिका) प्रति बदल गया और वह आक्रामक तथा अशिष्ट हो गया। लतिका ने आरोप लगाया था कि मई में उनके बार-बार मना करने के बावजूद नैनीताल में उनके स्वामित्व वाली जमीन के कागजात इमरान ले गया। पुलिस के अनुसार उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि मध्य दिल्ली में हेली रोड स्थित उनके घर में रखी कुछ चीजें गायब हो गईं तथा जब भी उन्होंने पूछा, इमरान टालमटोल करता रहा। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि वह जेवरात तथा अन्य महंगी चीजों को वहां से ले गया। लतिका ने यह भी आरोप लगाया कि उनकी एक महिला रिश्तेदार की इमरान के साथ ‘मिलीभगत’ है। इमरान के खिलाफ भादंसं की धाराओं…403 (संपत्ति के बेईमानी से हेरफेर), 120बी (आपराधिक साजिश), 201 (सबूतों को नष्ट करना) तथा 420 (धोखाधड़ी) और आईटी एक्ट की धारा 66 के तहत मामला दर्ज किया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 15, 2016 7:20 pm

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग