December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

दिल्ली प्रदूषण: एसडीएमसी ने पूरे सप्ताह के लिए बंद किए स्कूल, एनडीएमसी और ईडीएमसी ने की 9 नवंबर तक की छुट्टी

दक्षिण दिल्ली नगर निगम के तहत आने वाले करीब 580 विद्यालयों को पूरे सप्ताह के लिए बंद रहेंगे। वहीं उत्तर और पूर्वी नगर निगमों के अंतर्गत आने वाले स्कूलों को बुधवार तक बंद कर दिया गया है।

Author नई दिल्ली | November 7, 2016 15:48 pm
नई दिल्ली में फैली जानलेवा धुंध के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान मास्क पहने एक बच्चा। (AP Photo: 6 नवंबर)

राष्ट्रीय राजधानी में प्रदूषण के खतरे को देखते हुए दक्षिण दिल्ली नगर निगम के तहत आने वाले करीब 580 विद्यालयों को पूरे सप्ताह के लिए तथा उत्तर और पूर्वी नगर निगमों के अंतर्गत आने वाले स्कूलों को बुधवार तक बंद कर दिया गया है। भारी धुंध के कारण अस्थामा, एलर्जी और सांस फूलने के मामलों में बढ़ोतरी के चलते दिल्ली के तीनों नगर निगमों के अंतर्गत आने वाले 17,000 से अधिक स्कूलों को शनिवार को बंद कर दिया गया था। ऐसा डॉक्टरों के बच्चों और बुजुर्गों में अत्यधिक सुरक्षा के सुझाव दिए जाने के बाद किया गया।

एमसीडी के अंतर्गत आने वाले सभी विद्याालय प्राथमिक विद्यालय हैं। तीनों नगर निगमों द्वारा चलाए जाने वाले स्कूल में करीब 10 लाख बच्चे पढ़ते हैं। दिल्ली सरकार ने भी रविवार को नौ नवंबर तक इसके सभी विद्यालयों को बंद करने का आदेश जारी किया है। एसडीएमसी के एक प्रवक्ता ने बताया, ‘हमने 12 नवंबर तक अपने सभी विद्यालयों को बंद करने का निर्णय लिया है। सुबह की पाली में भारी धुंध है। शाम में भी प्रदूषण का स्तर काफी अधिक है ऐसे में हमने इसे विस्तारित अवधि तक बंद रखने का फैसला किया है।’

दिल्ली प्रदूषण: NGT ने दिल्ली सरकार को लगाई फटकार; 4 राज्यों के पर्यावरण सचिवों को किया तलब

दक्षिण दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) के अन्तर्गत 579 स्कूल, उत्तरी दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी) के अंतर्गत करीब 740 और शेष पूर्वी दिल्ली नगर निगम (ईडीएसमसी) के अन्तर्गत आता है। दक्षिण दिल्ली में सिरीफोर्ट इलाके और पूर्वी दिल्ली में आनंद विहार सहित अन्य स्थान हैं जहां पर हाल में सबसे अधिक प्रदूषण पीएम 2.5 और पीएम 10 के पैमाने पर उच्च स्तर का दर्ज किया गया। उत्तरी दिल्ली के मेयर संजीव नायर ने बताया, ‘हमने नौ नवंबर तक स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया है। हम इसके बाद हालात की समीक्षा करेंगे और इसके बाद आगे निर्णय लेंगे।’

ईडीएमसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘पूर्वी दिल्ली नगर निगम के स्कूल भी नौ नवंबर तक बंद रहेंगे।’ इसके अलावा, एसडीएमसी ने प्रदूषण को लेकर लोगों को जागरूक बनाने के लिए एक रेडियो अभियान भी शुरू किया है। एसीडीएमसी के अधिकारी ने बताया, ‘हमारा रेडियो अभियान शुक्रवार से चल रहा है जिसमें एसडीएमसी की स्थायी समिति के अध्यक्ष ने लोगों को एक संदेश दिया है कि अगर हमारे नियंत्रण कक्ष में पत्तियां जलाने का कोई मामला आता है तो हम कार्रवाई करेंगे।’ दिल्ली में पिछले 17 साल में धुंध के कारण सबसे खराब स्थिति देखी जा रही है। इसके कारण दिल्ली और केन्द्र सरकार को प्रदूषण कम करने के लिए तत्काल उपाय करने पड़े।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कल स्थिति से निपटने लिए दक्षिण दिल्ली में बदरपुर उर्च्च्जा संयंत्र को अस्थायी रूप से बंद करने और अगले पांच दिन तक निर्माण और तोड़-फोड़ गतिविधियों सहित ‘आपात’ उपायों की घोषणा की थी। नायर ने कहा, ‘‘डीजल जनरेटर को बंद कर देना चाहिए, निर्माण कार्य को तत्काल रोक देना चाहिए और पत्तियों को जलाने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। इसके अलावा, बच्चों की अच्छी तरह सुरक्षा की जाए और उनके लिए अतिरिक्त एहतियात बरतना चाहिए।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 7, 2016 3:45 pm

सबरंग