ताज़ा खबर
 

फर्जी दस्तखत कर खाते से पैसे निकालने वाले गिरोह का पर्दाफाश

आरोपियों में पंजाब नेशनल बैंक की खानपुर शाखा में तैनात वरिष्ठ शाखा प्रबंधक प्रीतम दास भी शामिल हैं। गिरोह का मास्टरमाइंड चिराग चौधरी अमेरिका भाग गया है।
Author नई दिल्ली | April 12, 2017 03:20 am
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

दिल्ली पुलिस ने पंजाब नेशनल बैंक के एक वरिष्ठ प्रबंधक के साथ मिलकर फर्जी दस्तखत कर लोगों के खाते से रुपए निकालने वाले एक बड़े गिरोह का पर्दाफाश कर पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों में पंजाब नेशनल बैंक की खानपुर शाखा में तैनात वरिष्ठ शाखा प्रबंधक प्रीतम दास भी शामिल हैं। गिरोह का मास्टरमाइंड चिराग चौधरी अमेरिका भाग गया है। पुलिस ने उसके खिलाफ लुकआउट नोटिस भी जारी किया है। गिरफ्तार किए गए अन्य आरोपियों की पहचान हरिद्वार निवासी गौरव कुमार गोयल, दिल्ली के द्वारका सेक्टर-19 निवासी आशीष कुमार पराशर उर्फ किसलय किशोर उर्फ शानू, नारायणा निवासी सुनील शर्मा और कुरुक्षेत्र निवासी अमरजीत सिंह व गुरुग्राम में रहने वाले मैनेजर प्रीतम दास के रूप में हुई है। पुलिस ने उनके पास से फर्जी दस्तखत किए हुए 45 चेक, विभिन्न बैंकों के 85 चेक, एक लैपटॉप, पेपर कटर, प्रिंटर और खास तरह की स्याही बरामद की है। यह गिरोह पीएनबी, एसबीआइ, यस बैंक, करुड़ वैश्य वैंक, एक्सिस बैंक, बैंक आफ इंडिया, आइसीआइसीआइ, केनरा बैंक, इंडसइंड, यूनियन बैंक, बैंक आॅफ बड़ौदा, इलाहाबाद बैंक, आइडीबीआइ के खाताधारकों को चूना लगाता था। वे स्याही और पाउडर से चेक का नंबर बदलते थे। गौरव और शानू पहले भी बैंक से फर्जी तरीके से पैसे निकालने के मामले में जेल जा चुके हैं। शानू फर्जी दस्तखत करने और चेक पर नंबर बदलने में माहिर है।

दक्षिणी जिले अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त चिन्मय बिस्वाल ने प्रेस कांफ्रेंस में पत्रकारों को बताया कि 12 मार्च को सेफ वाटर नेटवर्क इंडिया संस्था के मालिक ने शिकायत दर्ज कराई थी कि पंजाब नेशनल बैंक में उनके खाते से किसी ने 95 लाख रुपए ट्रांसफर कर लिए हैं। हौजखास थाने में मामला दर्ज किया गया। जांच में पता चला कि रुपए पंजाब नेशनल बैंक की कुरुक्षेत्र, हरियाणा स्थित शाखा से खाताधारक राजीव गुप्ता उर्फ गौरव कुमार गोयल ने निकाले हैं। गौरव को गिरफ्तार किया गया तो उसने बताया कि गिरोह के सदस्यों ने उसे 30 लाख रुपए देने को कहा था। उससे मिली जानकारी के बाद अन्य आरोपियों को दबोच लिया गया। गिरोह के सदस्य चेक पर नंबर डालने के लिए जिस स्याही का इस्तेमाल करते थे, वह पश्चिम बंगाल से मंगाई जाती थी।

 

अरविंद केजरीवाल के खिलाफ जारी हुआ जमानती वारंट; पीएम मोदी की शैक्षणिक योग्यता पर की थी टिप्पणी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग