December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

लोगों का आरोप, अपने खास को पैसे दे रहे बैंकवाले

बुजुर्ग मजदूर यूनियन नेता ने बताया कि उनके सामने दूसरे लोग मोटी रकम ले जा रहे हैं जबकि उन्हें बहाना बनाकर चुप कराया जा रहा है।

Author नई दिल्ली | November 24, 2016 03:32 am
नोएडा में आईसीआईसीआई बैंक के बाहर नए नोट के लिए खड़े लोग। (AP Photo/File)

नोटबंदी के दौरान जहां आम लोगों को कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है, घरों में तय शादियां रुक रही हैं वहीं लोगों का आरोप है कि कई बैंकवाले अपने खास लोगों को उपकृत करने से बाज नहीं आ रहे। दिल्ली से सटे गाजियाबाद में पिछले तीन दिनों से लाइन में लगे एक बुजुर्ग मजदूर यूनियन नेता ने बताया कि उनके सामने दूसरे लोग मोटी रकम ले जा रहे हंै जबकि उन्हें बहाना बनाकर चुप कराया जा रहा है। दिल्ली के रजौरी गार्डन में रहने वाले सुमित की शादी की तैयारियां जोरों पर है। 25 नवंबर को सुमित की शादी है लेकिन नोटबंदी के बाद से ही बजट बिगड़ा हुआ है। मध्यवर्गीय परिवार में अपने माता-पिता के साथ रहने वाले सुमित को लगता है कि नोटबंदी के कारण धूमधाम से होने वाली शादी की सारी तैयारियां फीकी पड़ जाएगी। वह बैंक दौड़ रहा है पर नतीजे कुछ खास नहीं निकल रहे। सुमित का कहना है कि आठ नवंबर के बाद से ही शादी के कार्यक्रम में काफी बदलाव किए गए हंै।

बैंड, टेंट, हलवाई आदि के लिए नगद की कमी ने मुश्किलें बढ़ा दी हैं। मेहंदी लगाने वाले ऐसे इलाकों में हैं जहां डेबिट कार्ड का इस्तेमाल नहीं हो सकता। हमें उसे 21 से 51 हजार तक का नगद देना था लेकिन इतना नगद जमा करने के लिए काफी समय लगेगा जो अब नहीं है। एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करने वाले सुमित जैसे पूर्वी दिल्ली में भी कई मामले सामने आ चुके हैं जहां सुबह से शाम तक लड़कियां और लड़के अपने परिजनों के साथ बैंक के दरवाजे खटखटा रहे हैं।

जबकि दिल्ली से सटे गाजियाबाद के खोड़ा में रहने वाले मजदूर यूनियन नेता बलराम सिंह ने बताया कि उनका बेटा बीते तीन दिनों से गाजियाबाद के कौशांबी सेक्टर-चार के ओरियंटल बैंक आॅफ कामर्स में चेक लेकर जाता है और बैंक की तरफ से जवाब आता है कि रुपए खत्म हो गए। सिंह की शिकायत है कि उनके सामने एक रसूखदार व्यक्ति आता है और बिना किसी रोकटोक के बैंक जाकर मोटी रकम लेकर निकल जा रहा है। शिकायत पर बैंक कर्मचारी सिर्फ आश्वसान देकर चुप करा देता है। यह हालत कमोवेश गाजियाबाद के खोड़ा, इंदिरापुरम, वैशाली और वसुंधरा के साथ दिल्ली के भी कई बैंकों में है।

 

झारखंड विधानसभा में स्‍पीकर पर फेंका गया जूता, जमकर चलीं कुर्सियां

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 24, 2016 3:32 am

सबरंग