April 24, 2017

ताज़ा खबर

 

नोट बैन को लेकर नीतीश कुमार ने नरेंद्र मोदी के फैसले को सराहा

500 और 1000 के नोटों के बैन के फैसले को लेकर जहां कुछ लोगों ने पीएम मोदी का समर्थन किया है तो वहीं कुछ ने उनका विरोध किया है। समर्थन करने वालों में बिहार के सीएम नीतीश कुमार हैं।

Author नई दिल्ली | November 9, 2016 13:48 pm
नीतीश कुमार ने किया पीएम मोदी का समर्थन (File Photo)

500 और 1000 के पुराने नोटों पर बैन करने के सरकार के फैसले पर बॉलीवुड से तो सराहना मिली ही है। साथ ही बैंकर्स और उद्योग जगह में भी मोदी के फैसले की प्रशंसा कर रहे हैं। लिहाजा अब इस फैसले बीजेपी नीतियों के विरोध में बोलने वाले नेताओं की भी मिली जुली प्रतिक्रियाएं सुनने को मिल रही हैं। इस फैसले को लेकर जहां कुछ लोगों ने पीएम मोदी का समर्थन किया है तो वहीं कुछ ने उनका विरोध किया है। समर्थन करने वालों में बिहार के सीएम नीतीश कुमार हैं। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने काले धन के खिलाफ मोदी सरकार के इस बड़े कदम की तारीफ की है। एएनआई एजंसी के मुताबिक नीतीश ने कहा, ‘हम मोदी सरकार द्वारा 500 और 1000 रुपए के नोट बंद करने की इस पहल की प्रशंसा करते हैं।’

 

हालांकि पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने सरकार के इस फैसले को निर्मम और दुखदायी करार दिया। ममता बनर्जी ने केंद्र के फैसले को ‘निर्मम और बिना सोच समझकर’ लिया गया बताया है। ममता ने कहा कि इससे वित्तीय परेशानियां होंगी। ममता ने इस फैसले को तुरंत वापस लेने की मांग की है।

वहीं केरल की एलडीएफ सरकार ने भी सरकार के आकस्मिक ऐलान की आलोचना करते हुए कहा कि इस कदम से देश से काला धन खत्म नहीं होगा। केरल के वित्त मंत्री टी एम थोमस इसाक ने कहा कि 1000 और 500 के नोटों को बंद करने से काला धन खत्म नहीं होगा।

जबकि सीएम अखिलेश यादव ने किसानों और ग्राणाओं लोगों को ध्यान में रखते हुए नोट बैन के बाद केंद्र सरकार ने करंसी को बदलने के लिए स्पेशल शिविर लगाने की मांग की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 9, 2016 1:38 pm

  1. A
    ankit payasi
    Nov 9, 2016 at 1:13 pm
    सरकार के किसी भी फैसले का सामान्य जनता और कुछ ऐसे सेलिब्रिटी लोग अगर तारीफ़ करे जो किसी भी राजनितिक दल से तालुकात नही रखते हो इसका मतलब वो फैसला देश के हित में लिया गया हे और जिसे राजनीती करनी है उसके लिए तो सारे फैसले गलत साबित होते हे
    Reply
    1. R
      Ramesh raman
      Nov 9, 2016 at 3:49 pm
      Modi government ne bilkul shai Kam Kiya he yah Kam to bahut pahle ho Jana tha magar Congress to kud chor thi wo kese yah Kam karti ab modi Jee ne jab yah Kam Kiya he to in sabko apne kale dhan ki chinta ho Rahi he aam aadmi ka Sirf Nam lekar apna gussa sarkar pe nikal Rahe he
      Reply

      सबरंग