December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

बैंकों में छुट्टी, डिब्बा बने रहे 70 फीसद एटीएम

बैंक बंद होने के बावजूद सोमवार को शहर के ज्यादातर एटीएम में नकदी नहीं डाली गई।

Author नोएडा | November 15, 2016 02:36 am
एक एटीएम के बाहर पैसे निकालने के लिए लगी कतार (फाइल फोटो)

बैंक बंद होने के बावजूद सोमवार को शहर के ज्यादातर एटीएम में नकदी नहीं डाली गई। रकम डाले जाने की उम्मीद में सुबह से ही लोग एटीएम में लाइन लगाकर खड़े थे। कई घंटों तक मशीन में रुपए नहीं डाले जाने पर लोग सरकार को कोसते हुए चले गए। जिन एटीएम पर सोमवार सुबह रुपए नहीं डाले गए, वहां भी कई घंटों तक 100-150 लोग लाइनों में खड़े थे। सेक्टर-18 में 70 से ज्यादा एटीएम होने के बावजूद सुबह 6 से 9 बजे के बीच अधिकांश में रुपए ही नहीं डाले गए। सुबह से लोग लाइन में लगे रहे, लेकिन जब एटीएम बूथ का शटर नहीं उठा और गार्ड गायब मिला, तब लोगों को समझ आया कि रुपए नहीं मिलेंगे। हालांकि रविवार तक सेक्टर-3, 15, 16, 18, 50, आदि इलाकों के एटीएम बूथों में रुपए डाले गए थे।

अकेले सेक्टर-18 में ही करीब 5000 आॅफिस और व्यावसायिक प्रतिष्ठान हैं। सेक्टर-15, 50, 41 आदि के कुछ एटीएम में 100 रुपए के नोट डाले गए, जो महज दो घंटे में ही खत्म हो गए।वहीं पुराने औद्योगिक सेक्टर-1, 2, 6 में लगे निजी बैंकों के एटीएम को सुबह 11 बजे खोला गया। तब तक लोगों की लंबी लाइनें लगी रहीं। हालांकि मदद के लिए आगे आए कई सामाजिक संगठनों ने लाइन में लगे लोगों को पानी और नाश्ते के पैकेट उपलब्ध कराए थे। सेक्टर-11 व 12 के अधिकांश एटीएम बंद मिले। शाम होने तक शहर के 95 फीसद एटीएम में रकम खत्म हो चुकी थी। उधर, बैंक सूत्रों के मुताबिक, रुपयों को लेकर मची मारामारी जल्द दूर हो जाएगी। एटीएम मशीनों से 500 व 2000 के नोट निकलने के बाद स्थिति काबू में आ जाएगी।

नोटबंदी के मुद्दे पर पीएम मोदी ने देर रात बुलाई बैठक; 24 नवंबर तक चलेंगे 500-1000 रुपए के पुराने नोट

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 15, 2016 2:36 am

सबरंग