ताज़ा खबर
 

एमसीडी चुनाव: वोट डालने के बाद तर्जनी पर नहीं, अनामिका पर लगेगा स्‍याही का निशान

अब पॉइंटर फिंगर की जगह वोट डालने के बाद रिंग फिंगर पर स्याही का निशान लगाया जाएगा।
सांकेतिक तस्वीर

दिल्‍ली नगर निगम के चुनाव के लिए राजनैतिक दलों ने कमर कस ली है। भाजपा, कांग्रेस और आप के नेता वार्ड-वार्ड जाकर वोट मांग रहे हैं। ईवीएम को लेकर उठे सवालों के बीच चुनाव आयोग भी राजनैतिक दलों को कोई मौका नहीं देना चाहता। इसलिए 23 अप्रैल को होने वाली वोटिंग के लिए चुनाव आयोग ने प्रक्रिया में कुछ बदलाव किए हैं। सूत्रों के अनुसार, चुनाव कर्मचारियों की ट्रेनिंग में इस बार मतदाता की रिंग फिंगर (अनामिका) में स्‍याही लगाई जाएगी, न कि तर्जनी उंगली में। दिल्ली के तीन नगर निगमों में कुल 272 सदस्यों के लिए 23 अप्रैल को चुनाव होने हैं। इसके नतीजे 26 अप्रैल को घोषित किए जाएंगे। पंजाब और गोवा में हार के बाद आम आदमी पार्टी का सारा ध्यान इस वक्त दिल्ली एमसीडी के चुनावों पर हैं। इस वक्त दिल्ली के तीनों नगर निगम पर बीजेपी काबिज है।

एमसीडी चुनावों के लिए विभिन्‍न पार्टियों ने लुभावने वादे किए हैं। अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि आम आदमी पार्टी (आप) नगर निगम में सत्ता में आई तो किराये के घरों में रह रहे लोगों को मुफ्त पानी दिया जाएगा और बिजली दरों में छूट दी जाएगी। केजरीवाल ने कहा कि, ‘अगर दिल्ली के नगर निगम चुनाव में आम आदमी पार्टी की सरकार बनती है तो रिहायशी घरों पर हाउस टैक्स खत्म कर दिया जाएगा, साथ ही बकाया हाउस टैक्स को भी सरकार माफ कर देगी।’

सत्तारूढ़ भाजपा ने इस बार के चुनावों में अपने मौजूदा पार्षदों को चुनाव मैदान में नहीं उतारने का फैसला किया है। पार्टी ने 80 हजार सदस्यों के साथ आईटी सेल की बड़ी टीम बनाई है। इन्हें 272 वार्डों और तीन आईटी चैंबर्स से ऑपरेट किया जा रहा है। इसके लिए 280 सोशल मीडिया विशेषज्ञों की मदद ली जा रही है। यह टीम पीएम मोदी और भाजपा सरकार की उपलब्धियों के साथ ही दिल्ली सरकार की नाकामियों के बारे में भी लोगों को सोशल मीडिया के जरिए बताएगी।

कांग्रेस ने एक रेजिडेंशियल बिल्डिंग के बेसमेंट में सोशल मीडिया कंट्रोल रूम बनाया है, जहां करीब 30 लोगों की टीम तीन शिफ्ट में काम कर रही है। टीम लीडर रणजीत मुखर्जी के मुताबिक, इनका पूरा फोकस कार्यकर्ताओं और मतदाताओं को सही और सत्यापित जानकारी उपलब्ध कराना है।

दिल्ली: अरविंद केजरीवाल की चुनाव आयोग से मांग- "ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से करवाए जाएं MCD चुनाव"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.