ताज़ा खबर
 

केजरीवाल Vs जंग: सिसोदिया ने दिल्ली को पूर्ण राज्य के मुद्दे पर केंद्र पर हमला बोला

केन्द्र पर फिर से निशाना साधते हुए आप सरकार ने आज दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने के भाजपा के चुनावी वादे पर ‘‘सबसे बड़ा यू टर्न’’ लेने का आरोप लगाया और कहा कि वह...
Author May 24, 2015 20:38 pm
मनीष सिसोदिया ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी के ‘‘भ्रष्ट’’ लोगों को बचाने की योजना चल रही है। (फाइल फोटो पीटीआई)

केन्द्र पर फिर से निशाना साधते हुए आप सरकार ने आज दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने के भाजपा के चुनावी वादे पर ‘‘सबसे बड़ा यू टर्न’’ लेने का आरोप लगाया और कहा कि वह ‘‘धमकाये जाने पर’’ चुप नहीं बैठेगी।

आप सरकार के सत्ता में सौ दिन पूरे होने पर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार उपराज्यपाल के जरिये ‘‘किसी भी तरह से’’ दिल्ली को चलाने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के मंत्री हर्षवर्धन ने लगातार कहा है, मोदी जी खुद कह चुके हैं और उन्होंने दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने को अपने चुनावी घोषणापत्र में शामिल किया। अब जब मुददा उठा है तो वे धौंस दिखा रहे हैं और दिल्ली सरकार इस मुददे पर चुप नहीं रहेगी।

इस बयान से एक दिन पहले केन्द्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली ने कहा था कि देश में आम सहमति बनने तक दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा नहीं दिया जा सकता क्योंकि यह मुददा राष्ट्रीय राजधानी से जुड़ा है।

सिसोदिया ने भाजपा पर मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के बीच ‘‘प्रतिद्वंद्वता से डरे होने’’ का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ‘‘बीते एक वर्ष में केन्द्र का सबसे बड़ा यूटर्न दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने के मुददे पर आया है, भाजपा केजरीवाल और मोदी के बीच प्रतिद्वंद्वता’’ से क्यों डरी हुई है। आप के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने सिसोदिया के हवाले से ये बातें कहीं।

उपराज्यपाल द्वारा वरिष्ठ नौकरशाह शकुंतला गैमलिन को कार्यवाहक मुख्य सचिव नियुक्त करने से सत्तारूढ़ आप और उपराज्यपाल नजीब जंग के बीच टकराव पैदा हो गया था और केजरीवाल ने उपराज्यपाल के अधिकारों पर सवाल उठाते हुए उन पर प्रशासन का नियंत्रण अपने हाथ में लेने का प्रयास करने का आरोप लगाया था।

सिसोदिया ने कहा कि आप सरकार काम करने के अलावा संघर्ष का भी सामना कर रही है और ‘‘दिल्लीवाले सरकार के काम से खुश हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘दिल्ली में ‘तबादला तैनाती’ उद्योग के लिए जिम्मेदार अधिकारी अपनी सेवानिवृत्ति के बाद राजनीति कर रहे हैं। हम काम करने के साथ संघर्ष का सामना कर रहे हैं। जनता ने हमें शतरंज खेलने या अपने हाथ इन धोखबाजों पर रखने के लिए नहीं चुना है।’’

बीस मई को एक बैठक में सौ से अधिक सेवानिवृत्त एवं सेवारत नौकरशाहों ने वरिष्ठ अधिकारियों की नियुक्तियों के ‘‘राजनीतिकरण’’ की निंदा की थी और केजरीवाल तथा जंग दोनों से बेहतर माहौल बनाने का अनुरोध किया था।

सिसोदिया ने मीडिया पर ‘‘झूठ फैलाने’’ और केजरीवाल की छवि खराब कराने का आरोप लगाया। हालांकि उन्होंने अपनी इस टिप्पणी के संबंध में कहा, ‘‘वह मीडिया नहीं बल्कि झूठ के खिलाफ है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमें अगले विधानसभा सत्र में जनलोकपाल विधेयक पेश करने की आशा है। हमने किसी वरिष्ठ व्यक्ति या अधिकारी के खिलाफ जांच बंद नहीं की है। (मुकेश) अंबानी के खिलाफ मामला तेज रफ्तार से आगे बढाया जा रहा है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग