ताज़ा खबर
 

दिल्ली: कड़कड़डूमा डाकघर के सुरक्षा गार्डों की पिटाई कर बनाया बंधक, दो गिरफ्तार

राजधानी दिल्ली की सुरक्षा व्यवस्था पर एक बार फिर सवाल उठाते हुए रविवार रात पूर्वी दिल्ली के कड़कड़डूमा डाकघर में लुटेरों ने धावा बोल दिया।
Author नई दिल्ली | February 21, 2017 02:26 am
प्रतीकात्मक तस्वीर

राजधानी दिल्ली की सुरक्षा व्यवस्था पर एक बार फिर सवाल उठाते हुए रविवार रात पूर्वी दिल्ली के कड़कड़डूमा डाकघर में लुटेरों ने धावा बोल दिया। लुटेरों ने डाक घर में तैनात निजी सुरक्षा गार्डों की जमकर पिटाई की और उन्हें बंधक बना दिया। इसके बाद उन्होंने पूरे डाकघर को खंगाला और करीब 10 लाख रुपए की नकदी सहित 15 थैलियों में भरे पोस्टल आॅर्डर, मनी आॅर्डर व चेक जैसी बहुमूल्य चीजें लेकर फरार हो गए। सूचना मिलते ही जिले की पुलिस उपायुक्त नुपुर प्रसाद घटनास्थल पर पहुंचीं और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर मामले की जांच शुरू कर दी। उपायुक्त का दावा है कि दो बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया गया है और अन्य को गिरफ्तार कर जल्द ही मामले का खुलासा कर लिया जाएगा।
पूर्वी दिल्ली के कड़कड़डूमा में रेलवे आरक्षण काउंटर के पास स्थित प्रधान डाकघर जमनापार का मुख्य कार्यालय है और यहीं से छोटे डाकघरों के काम का बंटवारा होता है। दोमंजिला भवन के इस डाकघर में सौ से ज्यादा कर्मचारी हैं, जिसमें छंटनी सहायक से लेकर मुख्य पोस्टमास्टर और अन्य कर्मचारी शामिल हैं।

रविवार को छुट्टी का दिन होने के कारण यहां सुरक्षा गार्ड के अलावा और कोई कर्मचारी नहीं था। बताया जा रहा है कि रात करीब 12 बजे कुछ बदमाश डाकघर में घुसे और सुरक्षा गार्डों राजकुमार और अजय की पिटाई शुरू कर दी। वे कुछ समझते इससे पहले ही उन्हें बंधक बना लिया गया। इसके बाद बदमाशों ने पूरे डाकघर को खंगालना शुरू किया और नकदी व अन्य बहुमूल्य सामान लेकर फरार हो गए। बदमाशों की संख्या 6 बताई जा रही है। वे लूट के दौरान डाकघर के कुछ लॉकरों को भी तोड़ने की कोशिश की, जिसमें सिर्फ एक लॉकर टूटा, जिसमें कुछ नकदी और चेक थे। हालांकि पुलिस का कहना है कि बदमाश नकदी रखे जाने वाले मुख्य कमरे तक नहीं पहुंच सके और सिर्फ दराज और अलमारियों में रखी नकदी ही लूट पाए। सूचना मिलने पर पुलिस और डाक विभाग के अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे और सीसीटीवी सहित अन्य सुरक्षा उपायों का जायजा लिया।
बताया जा रहा है कि इतनी बड़ी वारदात को अंजाम देने से पहले बदमाशों ने डाकघर में तैनात गार्डों और सुरक्षा का बंदोबस्त का जायजा लिया था। उन्हें पता था कि यहां पुलिस की तैनाती नहीं है और डाकघर की सुरक्षा निजी सुरक्षा गार्डों के जिम्मे ही है।

 

 

बुंदेलखंड: प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- "SCAM का मतलब सपा, कांग्रेस, अखिलेश और मुलायम"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.