ताज़ा खबर
 

JNU के योग कोर्स को खारिज करने पर संस्कृति मंत्री बोले, राजनीति से ऊपर उठिए

केन्द्रीय संस्कृति मंत्री महेश शर्मा ने सोमवार (10 अक्टूबर) को कहा कि जब बात प्राचीन भारतीय कला की हो तो राजनीति से ऊपर उठना चाहिए।
Author नई दिल्ली | October 10, 2016 22:09 pm
जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी साल 2017 में देश के टॉप 10 शिक्षण संस्थाओं में दूसरे नंबर पर रहा । (फाइल फोटो)

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) की शैक्षणिक परिषद द्वारा योग पर अल्पकालिक पाठ्यक्रम शुरू करने से इंकार के बाद केन्द्रीय संस्कृति मंत्री महेश शर्मा ने सोमवार (10 अक्टूबर) को कहा कि जब बात प्राचीन भारतीय कला की हो तो राजनीति से ऊपर उठना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसे पूरे विश्व में स्वीकार किया जा रहा है। उन्होंने ‘राष्ट्रीय संस्कृति महोत्सव 2016’ की घोषणा के लिए आयोजित संवाददाता सम्मेलन के बाद कहा, ‘हम यहां उन लोगों के लिए हैं जो योग का समर्थन करते हैं… जब हम योग की बात करते हैं, सभी को राजनीति से ऊपर उठना चाहिए।’ उनसे जेएनयू की फैसले करने वाली एक शीर्ष संस्था के फैसले के बारे में पूछा गया था।

शर्मा ने कहा कि योग व्यक्तिगत पसंद है, किसी पर कोई ‘बंदिश’ नहीं है। उन्होंने कहा कि योग को पूरी दुनिया द्वारा स्वीकार किया जा रहा है और जब संयुक्त राष्ट्र द्वारा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की घोषणा की गई तो यह भारत के लिए गर्व का क्षण था। भारत विरोधी नारेबाजी को लेकर विवाद के केन्द्र में आई जेएनयू की फैसले करने वाली वैधानिक संस्था शैक्षणिक परिषद ने भारतीय संस्कृति एवं योग पर अल्पकालिक पाठ्यक्रम शुरू करने के संबंध में एक प्रस्ताव को दूसरी बार खारिज किया है। मोदी के उत्तर प्रदेश में दशहरा मनाने के फैसले पर शर्मा ने कहा, ‘मोदीजी पूरे देश के प्रधानमंत्री हैं। वह जहां चाहें, जा सकते हैं। उप्र भी भारत का हिस्सा है। इससे पहले वह दिवाली मनाने जम्मू कश्मीर गए थे और इस बार वह दशहरा मनाने उत्तर प्रदेश जा रहे हैं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग