December 07, 2016

ताज़ा खबर

 

जेएनयू छात्र का दावा, नजीब की हत्या का प्रयास किया गया था

विश्वविद्यालय के छात्र नजीब अहमद की कुछ एबीवीपी समर्थकों के साथ कथित झड़प हुई थी, उस समय उसकी हत्या का प्रयास किया गया था।

Author नई दिल्ली | October 23, 2016 04:57 am
जेएनयू में लापता छात्र की बरामदगी के समर्थन में विरोध-प्रदर्शन करते छात्र ( एक्सप्रेस फोटो -ताषी तोबग्याल)

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के एक छात्र ने दावा किया है कि जब विश्वविद्यालय के छात्र नजीब अहमद की कुछ एबीवीपी समर्थकों के साथ कथित झड़प हुई थी, उस समय उसकी हत्या का प्रयास किया गया था। जैव-प्रौद्योगिकी विभाग का छात्र नजीब एक हफ्ते से लापता है। उसके लापता होने के एक दिन पहले रात में उसकी कथित तौर पर एबीवीपी सदस्यों के साथ झड़प हुई थी।  पुलिस ने उसके अभिभावकों की शिकायत पर एक प्राथमिकी भी दर्ज की है। जेएनयू में स्कूल आॅफ इंटरनेशनल स्टडीज में एमफिल के छात्र शाहिद रजा खान ने कहा, ‘मैंने पहली मंजिल से कुछ हल्ला सुना। जब मैं नीचे गया, मैंने देखा कि नजीब के मुंह और नाक से खून बह रहा है। हमने वार्डन को बुलाया और नजीब को बाथरूम ले गए’। खान ने कहा, ‘लेकिन कुछ छात्र आए और बाथरूम के अंदर नजीब के साथ मारपीट की। वे लोग चिल्ला रहे थे कि उसे नहीं बख्शना चाहिए’।

एबीवीपी ने आरोपों को खारिज करते हुए उन्हें निराधार बताया। एबीवीपी की जेएनयू इकाई के अध्यक्ष आलोक सिंह ने कहा, ‘अगर उनके साथ बुरी तरह से मारपीट की गुे तो वार्डेन ने क्यों नहीं मेडिकल परीक्षण कराया। उसकी रिपोर्ट कहां है। कुछ नहीं है क्योंकि उस पर कोई हमला नहीं किया गया। इस बीच ‘नजीब को वापस लाओ’ आंदोलन चला रहे आइसा ने शनिवार को दिल्ली विश्वविद्यालय में विरोध प्रदर्शन किया। आइसा की डीयू इकाई ने इसे लेकर कला संकाय के समक्ष प्रदर्शन किया और जेएनयू के उस छात्र के खिलाफ भी एफआइआर दर्ज करने की मांग की जिससे नजीब अहमद का झगड़ा हुआ था। आइसा की नेता कंवलप्रीत कौर ने कहा- मुजफ्फरनगर से लेकर दादरी तक की घटनाएं यह बताने के लिए काफी है कि देश में एक तबका कैसे संप्रदायिकता फैलाने पर उतारू है। आइसा ने इस मौके पर नजीब अहमद के परिवार वालों को भी सुरक्षा मुहैया कराने की मांग की।  आइसा की अध्यक्ष सुचेता डे ने कहा कि आइसा इसे पूरे देश में इसे ले जाएगी। उन्होंने कहा कि सोमवार को आइसा ने सभी कॉलेजों में विरोध प्रदर्शन का आयोजन करने का फैसला किया है। उन्होंने इसे देशव्यापी विरोध प्रदर्शन का नाम दिया।

Missing JNU Student: VC Gives Ultimatum To Students Over ‘Illegal Confinement

 

उधर जेएनयू परिसर में परिषद के लोगों ने मोर्चा संभाला। जेएनयू के पूर्व संयुक्त सचिव और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के नेता सौरभ शर्मा ने जान से मारने की धमकी वाले खत के साथ सभा की। शनिवार को खत का हवाला देकर उन्होंने कहा कि इसमें धमकाने की भाषा है। मसलन मुसलिम लड़के को हाथ लगाने की तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई? तुम्हारे टुकड़े-टुकड़े कर देंगे, आदि की चर्चा उन्होंने की। सनद रहे कि जेएनयू छात्र नजीब पिछले कई दिनों से लापता है। दिल्ली पुलिस ने गुरुवार दोपहर केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के निर्देश के बाद जेएनयू के लापता छात्र का पता लगाने के लिए एक विशेष जांच दल (एसआइटी) का गठन किया है। लापता छात्र के मुद्दे पर छात्रों के प्रदर्शन के बीच गृह मंत्री ने दिल्ली पुलिस को निर्देश पर लापता नजीब का पता लगाने के लिए विशेष दल गठित किया जा चुका है। लेकिन आइसा ने शनिवार को कहा कि वह इस कार्रवाई से संतुष्ट नहीं है। नजीब जेएनयू के एक हॉस्टल में एबीवीपी समर्थकों के एक समूह के साथ झगड़ा होने के बाद एक हफ्ते से लापता है। वामपंथी संगठन ने परिषद पर तो परिषद ने वामपंथी संगठनों पर नजीब अहमद की गुमशुदगी का कारण थोपा है।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 23, 2016 4:57 am

सबरंग