December 08, 2016

ताज़ा खबर

 

क्या नोटबंदी से बिगड़ी है लोगों की मानसिक सेहत? वर्ल्ड कांग्रेस ऑफ़ सोशल साइकियाट्री में दुनिया भर के विशेषज्ञ करेंगे चर्चा

नेशनल ड्रग डिपेंडेंस ट्रीटमेंट सेंटर (एनडीडीटीसी) और इंडियन एसोसिएशन फॉर सोशल साइकियाट्री की ओर से एम्‍स में होने वाले इस कार्यक्रम में 130 साइकियाट्रिस्‍ट हिस्‍सा लेंगे।

नोटबंदी के बाद से पैसों के लिए लोगों को बैंकों और एटीएम के बाहर लंबी लाइनों में खड़ा होना पड़ रहा है। (फाइल फोटो)

केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले को शादी में देरी, कारोबार में कमी और लोगों की मौत से जोड़ा जा रहा है। लेकिन क्‍या सरकार के इस फैसले से लोगों के मानसि‍क स्‍वास्‍थ्‍य पर असर पड़ता है या नहीं। इसी सप्‍ताह वर्ल्‍ड कांग्रेस ऑफ सोशल साइकियाट्री में इस बारे में चर्चा की जाएगी। नेशनल ड्रग डिपेंडेंस ट्रीटमेंट सेंटर (एनडीडीटीसी) और इंडियन एसोसिएशन फॉर सोशल साइकियाट्री की ओर से एम्‍स में होने वाले इस कार्यक्रम में 130 साइकियाट्रिस्‍ट हिस्‍सा लेंगे। यह कार्यक्रम 30 नवंबर से 4 दिसंबर तक चलेगा। इसकी थीम ”तेजी से बदलती दुनिया में सामाजिक मनोचिकित्‍सा” है। इस दौरान मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य, मानसिक परेशानी से परिवार पर बोझ और मानसिक रूप से बीमारों के पुनर्वास पर चर्चा की जाएगी। साथ ही नोटबंदी से मानसिक अवस्‍था पर पड़ने वाले असर पर भी चर्चा होगी।

एनडीडीटीसी के चीफ डॉक्‍टर सुधीर खंडेलवाल ने बताया, ”कई सारे मुद्दों पर वैज्ञानिक सेशल होंगे जिससे कि मानसिक स्‍वास्‍थ्य से जुड़े मसलों का हल निकाला जा सके। इस संबंध में हम नोटबंदी से मानसिक अवस्‍था पर पर पड़े असर पर भी चर्चा करेंगे। वर्तमान में नोटबंदी के मानसिक‍ अवस्‍था पर असर और अनुभवजनित सबूत नहीं है। लेकिन ऐसे मामले सामने आए हैं जहां शादी में देरी और नौ‍करियां गई हैं। इस तरह की स्थिति में लोग परेशानी, तनाव महसूस कर सकते हैं। इस तरह की समस्‍या के दीर्घकालिन असर भी होते हैं और मरीजों को बताने की जरुरत है कि इससे कैसे निपटा जाए।”

बहस के दौरान नीतियों से जुड़े उन निर्णयों पर भी फोकस होगा जिनसे मानसिक अवस्‍था पर असर पड़ा हो। खंडेलवाल के अनुसार, ”अफगान शरणार्थियों और उससे मानसिक अवस्‍था पर अध्‍ययन किए जा चुके हैं। साथ ही राजनीतिक उठापटक को लेकर भी अध्‍ययन हुए हैं। सरकारों के अचानक बदल जाने से लोगों की मनोदशा पर असर पड़ता है। हम इन सबका उपयोग करेंगे और पता लगाएंगे कि नोटबंदी ने मानसिक अवस्‍था पर कैसे असर डाला है।”

लोकसभा में पेश किया गया इनकम टैक्स संशोधन बिल; खुद बताया तो 50% वरना 85% टैक्स लेगी सरकार:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 29, 2016 9:52 am

सबरंग