ताज़ा खबर
 

सामूहिक दुष्कर्म: मोदी से बोले केजरीवाल, कार्रवाई करें या दिल्ली पुलिस हमें सौंपें

अरविंद केजरीवाल ने दो नाबालिग लड़कियों से यहां सामूहिक बलात्कार के मद्देनजर प्रधानमंत्री और उपराज्यपाल से मुलाकात का समय मांगा..
Author नई दिल्ली | October 17, 2015 18:23 pm
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल। (पीटीआई फाइल फोटो)

दिल्ली पुलिस का नियंत्रण दिल्ली सरकार को सौंपने की पुरजोर वकालत करते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दो नाबालिग लड़कियों से यहां सामूहिक बलात्कार के मद्देनजर प्रधानमंत्री और उपराज्यपाल से मुलाकात का समय मांगा।

मुख्यमंत्री ने दिल्ली पुलिस पर पलटवार करते हुए कहा कि वह नागरिकों को सुरक्षा प्रदान करने में पूरी तरह विफल रही है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध किया कि वह या तो खुद कार्रवाई करें या राष्ट्रीय राजधानी में कानून व्यवस्था का प्राधिकार आप सरकार को सौंपें।

उन्होंने कई ट्वीट में कहा, ‘‘प्रधानमंत्री जी, दिल्ली पुलिस का नियंत्रण एक साल के लिए दिल्ली सरकार को दें। अगर हालात में सुधार नहीं होता है तो उसे वापस ले लें—-दिल्ली में महिलाओं की सुरक्षा पर चर्चा के लिए उपराज्यपाल और पीएम से समय मांग रहा हूं।’’

दिल्ली में शुक्रवार को दो नाबालिगों से बर्बर तरीके से बलात्कार हुआ। ये घटनाएं पिछले सप्ताह उत्तर पश्चिम दिल्ली में चार साल की एक लड़की से बलात्कार के बाद हुई हैं। केजरीवाल ने अस्पताल का दौरा किया जहां पीड़िता का इलाज किया जा रहा है और कहा कि उनकी सरकार के पास पुलिस का नियंत्रण लेने और सुरक्षा प्रदान करने के लिए जरूरी धन है।

उन्होंने मीडिया से कहा, ‘‘केंद्र सरकार कह रही है कि उनके पास दिल्ली पुलिस पर खर्च करने के लिए धन नहीं है, उसमें 16000 रिक्तियां हैं। तब वे क्यों पुलिस को अपने तहत रखे हुए हैं। दिल्ली पुलिस का नियंत्रण हमें दें। हमारे पास धन है और दिल्ली के नागरिकों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए हम तैयार हैं।’’

मामलों पर सख्त नजरिया अपनाते हुए उन्होंने कहा, ‘‘नाबालिगों से बार-बार बलात्कार की घटनाएं चिंताजनक और शर्मनाक हैं। दिल्ली पुलिस सुरक्षा प्रदान करने में पूरी तरह विफल रही है। पीएम और उनके एलजी क्या कर रहे हैं।’’

केजरीवाल ने कहा कि अगर केंद्र पुलिस को अपने नियंत्रण में रखना चाहता है तो मोदी उत्तरदायी हैं और उनसे जंग से मिलने को कहा। उन्होंने कहा कि जंग आप सरकार के कामकाज में हस्तक्षेप करने को ज्यादा उत्सुक हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘उपराज्यपाल और दिल्ली पुलिस के पास सिर्फ हमारे काम में हस्तक्षेप करने का काम बचा है। उन्होंने बल्कि राष्ट्रीय राजधानी में महिलाओं की सुरक्षा पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।’’

आप का दिल्ली पुलिस के साथ विभिन्न मुद्दों पर टकराव रहा है। पार्टी ने कई मौकों पर बल के खिलाफ उसके प्रति पूर्वाग्रह रखने का आरोप लगाया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. S
    Shailendra Shukla
    Oct 17, 2015 at 6:37 pm
    इनसे कुछ नहीं होगा , सब कुछ बच्चों का खेल है इनके लिए , एक साल के लिए खिलौना दे दो फिर वापस ले लेना. हर बात के लिए पहले कांग्रेस अब मोदी जिम्मेदार है , अरे Bhai आपके paas जो राइट्स है , जिनके लिए चुनाव लड़े थे , jitney शीला दिक्षित के पास थे उसमे कुछ करके दिखाओ , आपने आप को प्रूव करो जनता के सामने.
    Reply
सबरंग