ताज़ा खबर
 

आप के एक और पूर्व मंत्री का दावा- अरविंद केजरीवाल ने केबल नेटवर्क खरीदने के लिए मांगे थे पांच करोड़

पूर्व मंत्री असीम खान का आरोप है कि पांच करोड़ रुपए ना दे पाने के कारण उन्हें मंत्री पद से हटा दिया गया।
दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल। (फाइल फोटो)

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के मंत्री रहे विधायक ही एक एक करके उनके खिलाफ ही सामने आ रहे हैं। पूर्व जल मंत्री कपिल मिश्रा के अरविंद केजरीवाल पर दो करोड़ रुपए की रिश्वत लेने के आरोप के बाद अब एक और पूर्व मंत्री आसिम खान ने भी मोर्चा खोल दिया है। आसिम ने टीवी पर बोलेत हुए कहा कि आप पार्टी को केबिल नेटर्वक खरीदने के लिए 25 करोड़ रुपए की आवश्यकता थी। जिसमें से 5 करोड़ रुपए उनसे मांगे गए थे बाकी के 5-5 करोड़ रुपए दूसरे विधायक से मांगे गए थे। बतौर आसिम उनसे ये पैसे दिलीप पांडे ने मांगे थे। जब वो शिकायत दर्ज करने अरविंद केजरीवाल के पास पहुंचे तो उन्होंने कहा कि पैसे तो आपको देने पड़ेंगे। उनके पूछने पर केजरीवाल ने कहा कि, “मीडिया से हमारा झगड़ा चल रहा है और मीडिया को हमे कंट्रोल करना है तो हम केबिल नेटवर्क खरीदेंगे। और जो मीडिया हमारे खिलाफ खबर दिखाएगा उस मीडिया को हम केबिल से बंद कर देंगे उसका प्रसारण आगे नहीं करेंगे” आसिम का कहना है कि क्योंकि वो ये पांच करोड़ रुपए नहीं दे पाए इस कारण उन्हें मंत्री पद से हटा दिया गया।

इसके बाद आसिम ने बताया कि ये बयान उन्होंने डेढ़ साल पहले सीबीआई में भी दर्ज कराया है। इधर भ्रष्टाचार के ताजे विवाद पर अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करके कहा कि मंगलवार को शुरु हुए विधानसभा के विशेष सत्र में वो अपनी बात रखेंगे। तो वहीं अरविंद केजरीवाल पर घूसखोरी का आरोप लगाने वाले पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा को सोमवार को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया है। आप की राजनीतिक मामलों की समिति :पीएसी: की बैठक में यह फैसला किया गया। पार्टी ने ये भी साफ कर दिया है कि कपिल मिश्रा के घूसखोरी के आरोपों पर मुख्यमंत्री पद सेअरविंद केजरीवाल इस्तीफा नहीं देंगे। मिश्रा द्वारा केजरीवाल के खिलाफ लगाये गये आरोपों के सबूत आज दिल्ली सरकार की भ्रष्टाचार निरोधक इकाई :एसीबी: को सौंपने के बाद आप नेता संजय सिंह ने अपनी प्रतिक्रिया में यह बात कही।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.