ताज़ा खबर
 

तिलक लगाकर जुनैद की हत्या के खिलाफ चल रहे अभियान में गया तो, संघी कहकर लोगों ने भगा दिया, IIT छात्र ने फिल्मकार अशोक पंडित से साझा किया वाकया

भीड़ द्वारा हत्याओं का विरोध करने के लिए 28 जून को दिल्ली समेत लगभग 11 शहरों में #NotInMyName नाम से एक कैम्पेन चलाया।
दिल्ली स्थित जंतर-मंतर पर #NotInMyName अभियान में शामिल होने पहुंचे युवा (Photo-Twitter)

फिल्मकार और सोशल एक्टिविस्ट अशोक पंडित ने एक ट्वीट कर भारत में भीड़ द्वारा कत्ल के खिलाफ गये अभियान की आलोचना की है, और कहा है कि ये दरअसल कुछ लोगों का महज दिखावा है, और उन्हें असली मुद्दे से कोई लेना-देना नहीं है। अशोक पंडित ने एक ट्वीट किया है, उसमें उन्होंने एक शख्स के हवाले से लिखा है कि इस अभियान में एक शख्स को सिर्फ इसलिए शामिल नहीं होने दिया गया क्योंकि उसने पूजा के बाद टीका लगाकर रखा था। अशोक पंडित ने अपने ट्वीट में कुछ टेक्सट पेस्ट किया है, इसमें खुद को आईआईटी दिल्ली का छात्र होने का दावा करने शख्स ने कहा है कि उसे इस अभियान से सिर्फ इसलिए भगा दिया गया क्योंकि उसने अपने ललाट पर टीका लगा रखा था। अंकित नाम के इस छात्र ने दावा किया है कि वो जंतर-मंतर पर #NotInMyName अभियान देखने गया था, लेकिन उससे पहले ये छात्र एक मंदिर गया था यहां पर उसने अपने माथे पर तिलक लगाया था। इसके बाद जब वो जंतर मंतर पर पहुंचा तो वहां मौजूद लोग उसे संघी कहने लगे। छात्र के मुताबिक लोगों ने तुरंत वहां से चले जाने को कहा नहीं तो हड्डियां तोड़ देने की धमकी दी। छात्र ने अशोक पंडित को संबोधित करते हुए लिखा है कि क्या आप इस बात की जानकारी अपने फॉलोअर्स को दे सकते हैं।

बता दें कि 28 जून को दिल्ली समेत देश के लगभग 11 शहरों में भीड़ द्वारा बेगुनाह लोगों की हत्या के विरोध में #NotInMyName नाम से एक कैम्पेन चलाया। इस अभियान में एक्टर्स, जर्नलिस्ट, सोशल एक्टिविस्ट, स्टूडेंट और समाज के दूसरे तबके से लोग शामिल थे। कुछ दिन पहले दिल्ली से सटे बल्लभगढ़ में ट्रेन में सीट विवाद में जुनैद नाम के एक शख्स की हत्या कर दी गई थी। कहा जा रहा है कि सीट विवाद को धार्मिक रंग दे दिया गया था। इधर अशोक पंडित जैसे कुछ फिल्मकारों का कहना है कि ये अभियान सिर्फ समुदाय विशेष के लोगों के साथ की गई बर्बरता के लिए किया जा रहा है, जबकि बहुसंख्यकों की हत्या पर इस प्रदर्शन में शामिल होने वाले लोग चुप बैठे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग