ताज़ा खबर
 

दिल्ली की जहरीली धुंध पर बोले पर्यावरण मंत्री- प्रदूषण हानिकारक है लेकिन जानलेवा नहीं

अलग-अलग लोग अलग तरह के आंकड़े जारी करेंगे लेकिन कोई भी सुझाव नहीं देगा कि स्वास्थ्य के लिए प्रदूषण हानिकारण होता है।
Author नई दिल्ली | November 11, 2017 18:13 pm
हमें केवल मुख्य मुद्दे पर ध्यान देना चाहिए।

केंद्रीय पर्यावरण मंत्री हर्ष वर्धन ने ग्लोबल स्टडीज के उस दावे पर सवाल उठा दिए है, जिसमें कहा गया था कि प्रदूषण के कारण भारत में लाखों लोगों की मृत्यु होती है। एनडीटीवी को दिए इंटरव्यू में हर्ष वर्धन ने कहा कि किसी व्यक्ति की मृत्यु के पीछे का कारण प्रदूषण बताना यह बहुत बड़ी बात है। प्रदूषण से मरने वाले लोगों पर बयान देते हुए हर्ष वर्धन ने कहा अगर आपके फेफड़े में कोई बीमारी है और प्रदूषण के कारण फेफड़ो पर इसका असर पड़ रहा है और फिर व्यक्ति की मौत हो जाती है तो आप इसे प्रदूषण के कारण हुई मौत बता सकते हैं। इसके साथ ही पर्यावरण मंत्री ने कहा कि मुझे नहीं लगता है हमें इसका सामान्यीकरण करना चाहिए और यह कहना गलत है कि लाखों लोग केवल प्रदूषण के कारण मरते हैं।

केंद्रीय मंत्री ने सुझाव दिया कि ऐसे आंकड़ों में जाने की जरुरत नहीं है जिसमें प्रदूषण के कारण मृत्यु होने की बात कही गई है। अलग-अलग लोग अलग तरह के आंकड़े जारी करेंगे लेकिन कोई भी सुझाव नहीं देगा कि स्वास्थ्य के लिए प्रदूषण हानिकारण होता है। हमें केवल मुख्य मुद्दे पर ध्यान देना चाहिए। हर्ष वर्धन ने कहा कि प्रदूषण हानिकारक है लेकिन इससे किसी की मृत्यु नहीं होती।

गौरतलब है कि द लांसेट काउंटडाउन 2017 ने पिछले महीने अपनी एक रिपोर्ट में कहा था कि एयर पोल्यूशन के कारण भारत में साल 2015 में 2.5 मिलियन लोगों की मौत हुई थी। वहीं इस साल फरवरी में आई एक अन्य रिपोर्ट में कहा गया था कि 2015 में एयर पोल्यूशन के कारण देश में 11 लाख लोगों की मृत्यु हुई थी। रिपोर्ट में एयर पोल्यूशन को साइलेंट किलर और स्लॉ पोइजन बताया गया था। बता दें कि दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते स्मोग के कारण स्थानीय लोगों को काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है। दिल्ली के अलावा देश के कई शहरों में स्मोग के चलते लोगों को सांस लेने संबंधि परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.