ताज़ा खबर
 

2000 के नोटों में चिप होने के डर से नहीं खर्च कर रहे थे लूट के पैसे, आखिरकार चढ़े पुलिस के हत्थे

19 दिसबंर को इन तीन आरोपी बिट्टू, रोहित नागर और सनी शर्मा ने एटीएम में कैश भरने जा रही कैश वैन को लूटा था।
मध्यप्रदेश के उज्जैन से पुलिस ने आठ लाख रुपये के नकली नोट बरामद किए

नोटबंदी के बाद लगातार लूट और चोरी की वारदाते सामने आ रही है। कुछ दिनों पहले  दिल्ली के पाडंव नगर में भी कैश वैन लूट ने का मामला सामने आया था जिसमें तीन बदमाश कैश वैन को लूटने के बाद फरार हो गए थे। वहीं इस मामले में पुलिस के हाथ बड़ी कामयाबी लगी है। बताया जा रहा है कि नोटों में जीपीएस चिप लगे होने की अफवाह के चलते  बदमाशों ने इन पैसों को खर्च नहीं किया जिसके के बाद वह दिल्ली लौट आए और इसी दौरान पुलिस ने इन तीनों को गिरफ्तार कर लिया और वैन से लूटी हुई 9.5 लाख की रकम को जब्त कर लिया है।

गौरतलब है कि 19 दिसबंर को इन तीन आरोपी बिट्टू, रोहित नागर और सनी शर्मा ने एटीएम में कैश भरने जा रही कैश वैन को लूटा था। लूट की इस वारदात को अंजाम देने के बाद तीनों आरोपी हरिद्वार भाग गए थे लेकिन नए नोटों में जीपीएस चिप लगे होने के डर के चलते उन्होंने पैसे खर्च नहीं करें और इसके बाद जब दिल्ली लौटे तो पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। हालांकि वित्तमंत्री अरुण जेटली यह साफ कर चुके हैं कि नए नोटों में किसी प्रकार की चिप नहीं है।

पुलिस के मुताबिक इस वारदात को अंजाम देने में बिट्टू का बड़ा हाथ था। लूट की इस वारदात को अंजाम देने के लिए सारा प्लान उसने ही तैयार किया था। इसके बाद उसने अपने इस प्लान में रोहित और सनी को भी शामिल कर लिया। इस वारदात को अंजाम देने के लिए तीनों आरोपियों सबसे पहले तो कई दिनों तक अलग—अलग जगहों पर एटीएम में कैश भरने वाली गाड़ियों पर नजर रखी। इसी के बाद बिट्टू और उसके साथियों ने पाडंव नगर में लूट की घटना को अंजाम दिया।

वहीं इस घटना में इन लोगों ने जिस बाइक का इस्तेमाल किया था वह भी इन्होंने चुराई थी और बाइक की नंबर प्लेट भी उन्होंने दिल्ली के करावल नगर में बदलवाई। नंबर प्लेट बदलवाने के बाद इसका इस्तेमाल तीनों ने लूट की इस घटना को अंजाम देने के लिए किया।

वीडियो: 500-1000 के पुराने नोट रखने पर सरकार लगा सकती है जुर्माना, नया अध्यादेश लाने की तैयारी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Shrikant Sharma
    Dec 28, 2016 at 12:22 am
    अरुण जेटली इस देश का सबसे ज्यादा बड़ा मुखबिर इनंस मिनिस्टर साबित होने जा रहा है इस पर इसके प्रदान मंत्री को ही भरोसा नहीं है इसे क्या जरूरत थे ये बताने की की gps चिप्स हैं या nahin . हैं.कुर्सी से chipka है,एक भी चुनाव नहीं जीतने वाला फम है.
    (0)(0)
    Reply
    सबरंग