ताज़ा खबर
 

नजीब जंग से अधिकारों की लड़ाई में अरविंद केजरीवाल को बड़ा झटका

दिल्ली हाईकोर्ट ने 'आप' की तरफ से दायर की गई याचिका खारिज कर दी। इस याचिका में आम आदमी पार्टी ने उपराज्यपाल नजीब जंग के अधिकारों को चुनौती दी थी।
Author नई दिल्ली | August 4, 2016 20:40 pm
अरविंद केजरीवाल और नजीब जंग

दिल्ली हाईकोर्ट ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को बड़ा झटका देते हए ‘आप’ की तरफ से दायर की गई याचिका खारिज कर दी। इस याचिका में आम आदमी पार्टी ने उपराज्यपाल नजीब जंग के अधिकारों को चुनौती दी थी। पार्टी का कहना था कि मुख्यमंत्री उपराज्यपाल की आज्ञा का पालन करने के लिए बाध्य नहीं हैं। दिल्ली सरकार ने यह भी तर्क दिया था कि उपराज्यपाल को सिर्फ सलाह के आधार पर काम करने का अधिकार है। कोर्ट ने इन सभी तर्कोंं को खारिज कर उपराज्यपाल को राज्य का प्रशासनिक मुखिया बताया।

कोर्ट के इस फैसले को केजरीवाल के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। बीते समय में कई बार नजीब जंग और केजरीवाल के बीच मतभेद सामने आए हैं। अब ऐसे में कोर्ट के इस फैसले से आम आदमी पार्टी बैकफुट पर जरूर नजर आ रही है। आप ने कई बार केंद्र सरकार पर आरोप लगाए हैं कि केंद्र सरकार नजीब जंग के जरिये दिल्ली पर राज चलाना चाहती है। यह सारा विवाद मुख्य तौर पर तब शुरू हुआ जब नजीब जंग ने अपनी पसंद के अफसर को एंटी करप्शन ब्रांच का प्रमुख बनाया। हालांकि आम आदमी पार्टी ने हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने का फैसला किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. S
    sanjay
    Aug 4, 2016 at 1:10 pm
    कांग्रेस के ६० साल के शासन की नाकामी एवम सिस्टम में भरस्टाचार होने के कारण जनता का आक्रोश सिस्टम और पार्टियों के खिलाफ था,जिसके कारन मोदीजी सत्ता में आये ! जबसे मोदीजी सत्ता में आये तबसे तमाम पार्टियों ने एक समूह बनाकर उन पर हा बोला ! कोई कालाधन के लिए कोई महंगाई के लिए कोई बेरोजगारी के लिए कोई पाकिस्तान के लिए सभी पार्टियों को इन मुद्दों का तत्काल इसका समाधान चाहिए ! एक मकान बनाने में सालो लग जाते है यह बात समझदार लोग जानते है लेकिन पार्टिया जनता में मोदीजी के खिलाफ उकसा रही है!
    (1)(0)
    Reply
    1. S
      sanjay
      Aug 4, 2016 at 1:19 pm
      जो पार्टिया मोदीजी के नारो का अच्छे दिन आएंगे का मजाक उड़ा रही है उनको इन शब्द का ज्ञान नहीं है ! अच्छे दिन मेहनत करने वालो के आएंगे ,अच्छे दिन देश के शुभचिंतको के लिए आएंगे,अच्छे दिन बैरोजगारो के लिए आएंगे क्योकि अब नोकरी के लिए साक्षत्कार नहीं देना पडेगा ! अच्छे दिन किसानों के आएंगे अब उनको खादबीज समय पर मिलेगा,अच्छे दिन सब्सिडी छोड़ने वालो के लिए आएंगे,अच्छे दिन टेक्स भरने वालो के लिए आएंगे !
      (1)(0)
      Reply
      1. S
        sanjay
        Aug 4, 2016 at 1:32 pm
        यह व्यक्ति भरस्टाचार मिटाने के लिए आया था लेकिन दो साल में इसने दिल्ली में क्या किया जबकि दिल्ली का क्षेत्रफल इतना है की केजरीवाल सुबह से लेकर शाम तक दौरा कर नाप सकते है ! दो साल में छोटी सी जगह पर भी कमाल नहीं कर सके विकास की नई रेखा नया नहीं कर पाए वह व्यक्ति मोदी को चुनोती दे रहा है ! यह व्यक्ति केवल मोदी / बीजेपी से लड़ रहा है और इसके पीछे सभी पार्टियों का सा पो ट केजरीवाल को है
        (1)(0)
        Reply
        1. शोम रतूड़ी
          Aug 4, 2016 at 9:20 am
          कानून के जानकारों के लिए यह फैसला आश्चर्यजनक नही है,दिल्ली राज्य की स्थिति अन्य राज्यों से बिलकुल अलग है,दिल्ली एक राज्य होने के अलावा देश की राजधानी भी है इसलिए राज्य निर्माण में राज्य सरकार को कुछ अधिकारों से वंचित रखा गया है,ऐसा नही है कि केजरीवाल जी इससे अनभिज्ञ हों लेकिन उन्होंने बजाय इसके कि वे अपने अधिकारों का उपयोग जनता के हित में करते उन्होंने केंद्र और LG से टकराव मोल लेना ज्यादा बेहतर समझा,अवश्व उन्हें अपार बहुमत मिला लेकिन उससे उन्हें अधिकारों के अतिक्रमण का अधिकार नही मिलता है.
          (1)(0)
          Reply