December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

दिल्ली: सरकार ने की प्रदूषण से निपटने की तैयारी

दिल्ली सरकार कृत्रिम बारिश की संभावना पर भी केंद्र से चर्चा करेगी।

Author नई दिल्ली | November 7, 2016 03:52 am
दिवाली पर दिल्ली में प्रदूषण का स्तर खतरनाक स्तर को पार कर गया था।

धुंए और धुंध के कारण प्रदूषण की अत्याधिक गंभीर स्थिति को देखते हुए दिल्ली सरकार ने सभी स्कूलों को अगले तीन दिनों के लिए बंद रखने का आदेश दिया है। दिल्ली की कैबिनेट ने रविवार को आपात बैठक में निर्णय लिया कि राजधानी में अगले पांच दिनों तक भवनों के निर्माण और गिराने का काम बंद रखा जाएगा। दिल्ली सरकार कृत्रिम बारिश की संभावना पर भी केंद्र से चर्चा करेगी। यदि जरूरत हुई तो दिल्ली में वाहनों के लिए सम-विषम की नीति फिर लाई जा सकती है। सोमवार को स्वास्थ्य मंत्रालय परामर्श भी जारी करेगा। उधर नोएडा में भी नर्सरी से कक्षा दो तक की छुट्टी रहेगी जबकि तीसरी और उससे बड़ी कक्षाएं सुबह 9 से एक बजे तक संचालित की जाएंगी।

शनिवार को दिल्ली की स्थिति ‘गैस-चैम्बर’ जैसी बताने के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रदूषण पर उपायों पर चर्चा के लिए रविवार को दिल्ली कैबिनेट की आपात बैठक बुलाई। बैठक के बाद संवाददाताओं को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आपात स्थिति है। इसलिए लिए एक दूसरे पर दोषारोपण की राजनीति छोड़कर मिलकर काम करने की जरूरत है। केजरीवाल ने बताया, ‘स्कूलों को तीन दिनों के लिए बंद किया जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय समय-समय पर परामर्श जारी करेगा। पहला परामर्श सोमवार को जारी किया जाएगा। लोगों से अपील है कि वह घरों से बाहर जरूरत पड़ने पर ही निकलें, हो सके तो घर से ही काम करें।’

इसके साथ ही सरकार ने राजधानी के अंदर सभी निर्माण और भवन गिराने के कामों को पांच दिनों तक बंद करने का आदेश दिया है। सड़कों पर सोमवार से पानी का छिड़काव किया जाएगा। अस्पतालों और मोबाइल टावर जैसी इमरजेंसी सेवाओं को छोड़कर डीजल जनरेटर चलाने पर 10 दिनों तक पांबदी रहेगी। अनाधिकृत कॉलिनियों में फिलहाल बिजली कनेक्शन देने का आदेश दिया गया है ताकि वे जनरेटर का उपयोग न करें। बदरपुर प्लांट को दस दिनों तक बंद करने का आदेश है, यहां से नेशनल हाईवे आॅथोरिटी आॅफ इंडिया सड़कों के लिए फ्लाई ऐश ले जाता है। प्लांट पर पानी का भी छिड़काव किया जाएगा। सड़कों के वैक्युम क्लिनिंग का काम 10 नवम्बर से शुरू होगा जो 100 फीट से ज्यादा चौड़ी सड़कों पर हफ्ते में एक बार किया जाएगा। पत्तों के जलाने पर प्रतिबंध लगाया गया है, इसकी निगरानी की जिम्मेदारी सैनिटरी इंस्पेक्टर की होगी। लैंडफील साइट्स पर आग बुझाने के लिए नगर निगमों को निर्देश दिए गए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘कैबिनेट की बैठक में कृत्रिम बारिश का सुझाव दिया गया है। मुख्य सचिव और पर्यावरण सचिव को निर्देश दिए गए हैं कि वह केन्द्र के साथ मिलकर इसकी संभावनाओं को परखे।’ केजरीवाल ने कहा कि सरकार सम-विषम के लिए भी तैयारी शुरू कर रही है। कुछ दिनों के अंदर मूल्यांकन करेंगे, फिर जरूरत पड़ने पर लागू करने का निर्णय लेंगे। प्रदूषण को लेकर दिल्ली सरकार की तैयारियों पर उठ रहे सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदूषण में दिल्ली का बेसलेवल तो वैसे ही ज्यादा है, लेकिन इतना धुंआ फैल जाएगा यह किसी तो पता नहीं था। उन्होंने कहा कि बहुत जल्दी राहत की उम्मीद भी नहीं, इसलिए आपात उपाय जरूरी है।

उधर नोएडा के जिलाधिकारी एनपी सिंह ने रविवार को धुंध को लेकर बैठक की। नोएडा में अगले दो दिन तक नर्सरी से कक्षा दो तक छुट्टी रहेगी जबकि तीसरी से बड़ी कक्षाओं के समय मेें परिवर्तन किया गया है। इस नए दिशा निर्देशों को लेकर स्कूलों का प्रबंधन परेशान रहा। अभिभावकों के मुताबिक कई स्कूल सुबह 7.10 बजे से शुरू होते हैं। दोपहर 12.30 बजे से दूसरी पाली के बच्चे वहीं पढ़ने आते हैं। ऐसे में समय सारिणी दो दिनों के लिए कैसे बदली जा सकती है। दूसरी तरफ निजी स्कूलों के बंद करने पर नोएडा स्कूल असोसिएशन सोमवार को बैठक करेगी। सेक्टर-135 के श्रीराम मिलेनियम स्कूल ने सोमवार को 5वीं कक्षा तक छुट्टी कर दी है। बाल भारती स्कूल समेत अन्य स्कूलों के प्रधानाचार्यों ने सोमवार को असोसिएशन की बैठक के बाद छुट्टी को लेकर फैसला किया जाएगा।

नोएडा के जिलाधिकारी ने निर्माण, मिट्टी की खुदाई (अर्थ वर्क), हॉट मिक्स प्लांट आदि पर सात दिनों तक पूर्ण रोक लगाने का आदेश दिया है। परिवहन विभाग को पीयूसी केंद्रों की जांच करने, डीजल चलित भारी व्यावसायिक वाहनों पर हो रही ओवर लोडिंग की रोकथाम, जनरेटरों से होने वाले प्रदूषण की रोकथाम के लिए निर्बाध बिजली सप्लाई और कचरे आदि के जलाने पर रोक लगाने के निर्देश जारी किए गए हैं। धूल को लेकर सेक्टर 74 के दो निजी बिल्डरों पर प्राधिकरण ने 50-50 हजार का जुर्माना लगाया है। इसके अलावा 18 बिल्डरों को चेतावनी नोटिस जारी किए गए हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 7, 2016 3:52 am

सबरंग