December 03, 2016

ताज़ा खबर

 

जेएनयू के लापता छात्र नजीब अहमद के मामले की जांच करेगी क्राइम ब्रांच

नजीब 15 अक्तूबर को लापता हो गया था। उसकी इससे एक रात पहले एबीवीपी के सदस्यों के साथ कथित हाथापाई हुई थी।

Author नई दिल्ली | November 12, 2016 19:13 pm
जेएनयू छात्र नजीब अहमद के लापता होने के विरोध में प्रदर्शन करते पटना में एआईएसएफ के कार्यकर्ता। (PTI Photo/4 Nov, 2016)

जेएनयू के लापता छात्र नजीब अहमद के मामले की जांच दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा करेगी ताकि इस मामले पर ‘नए सिरे से गौर’ किया जाए। पुलिस (दक्षिण पूर्व) के संयुक्त आयुक्त आर पी उपाध्याय ने कहा कि इस संबंध में आदेश शुक्रवार (11 नवंबर) को आया था। एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘नजीब की मां ने कुछ दिन पहले गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की थी और मामले की सीबीआई से जांच कराने का अनुरोध किया था। मामले को अलग नजरिए से देखने और सबूतों पर फिर से नजर डालने के लिए मामले को दक्षिण जिले से कल (शुक्रवार, 11 नवंबर) अपराध शाखा को हस्तांतरित किया गया।’ गृह मंत्री द्वारा दिल्ली पुलिस आयुक्त आलोक कुमार वर्मा को निर्देश दिए जाने के बाद नजीब (27) का पता लगाने के लिए एसआईटी का पिछले महीने गठन किया गया था। नजीब 15 अक्तूबर को लापता हो गया था। उसकी इससे एक रात पहले एबीवीपी के सदस्यों के साथ कथित हाथापाई हुई थी।

अतिरिक्त डीसीपी-द्वितीय (दक्षिण) मनीषी चंद्र के नेतृत्व में एसआईटी इस मामले में कोई ऐसा सुराग नहीं प्राप्त कर पाई जिसके आधार पर कोई कार्रवाई की जा सके। विमहंस में एक चिकित्सक ने पुलिस को बताया था कि नजीब आब्सेसिव कम्पल्सिव डिसऑर्डर (ओसीडी) एवं अवसाद से पीड़ित था जिसके बाद से एसआईटी नजीब के मामले पर नए सिरे से गौर कर रही थी। इसके बाद जांच में मनोरोग संबंधी पहलू मुख्य हो गया था। एसआईटी मामले में जांच की योजना तैयार करने के लिए एम्स एवं आरएमएल के मनोचिकित्सकों की मदद लेने पर विचार कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 12, 2016 7:13 pm

सबरंग