ताज़ा खबर
 

दिल्‍ली पुलिस कर रही है केजरीवाल के रिश्‍तेदार की जांच, फर्जी बिल लगाकर तगड़ा मुनाफा लेने का आरोप

आम आदमी पार्टी ने कई बार दिल्‍ली पुलिस पर केंद्र सरकार के आदेश के तहत पार्टी के लोगों को निशाना बनाने के आरोप लगाए हैं।
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल। PTI Photo

दिल्‍ली सरकार को धोखा देने के आरोप पर सीएम अरविंद केजरीवाल के साढू सुरेंदर कुमार बंसल की जांच दिल्‍ली पुलिस कर रही है। एक एंटी-करप्‍शन एनजीओ की शिकायत के बाद दिल्‍ली पुलिस ने अपनी आर्थिक अपराध शाखा को शुरुआती जांच के आदेश दिए हैं। कंस्‍ट्रक्‍शन बिजनेस करने वाले बंसल पर भारी लाभ के लिए लोक निर्माण विभाग (पीडब्‍ल्‍यूडी) को फर्जी बिल्‍स और रसीदें देने का आरोप है। पीडब्‍ल्‍यूडी ने बंसल को एक नाला बनाने का काम सौंपा था। रोड्स एंटी करप्‍शन नाम के एनजीओ ने आरोप लगाया है कि बंसल ने पीडब्‍ल्‍यूडी में बिल सबमिट करने के लिए डमी कंपनियों का प्रयोग किया और केजरीवाल ने उसकी मदद की। सिविक प्रोजेक्‍ट्स को मॉनिटर करने का दावा करने वाले एनजीओ ने शनिवार को अदालत में अर्जी लगाई थी, जहां से शिकायत दिल्‍ली पुलिस को दे दी गई। अदालत ने और दस्‍तावेज मांगे हैं जिसके आधार पर तय किया जाएगा कि मामले में एफआईआर फाइल होनी चाहिए या नहीं।

केजरीवाल और उनकी आम आदमी पार्टी ने कई बार दिल्‍ली पुलिस पर केंद्र सरकार के आदेश के तहत पार्टी के लोगों को निशाना बनाने के आरोप लगाए हैं। दिल्‍ली की पुलिस गृह मंत्रालय को रिपोर्ट करती हैं क्‍योंकि दिल्‍ली पूर्ण राज्‍य नहीं है। एक पुलिस अधिकारी ने कहा, ”शुरुआती जांच पूरी होने के बाद, या तो शिकायत रद कर दी जाएगी या एफआईआर दर्ज होगी। अभी कुद कहना जल्‍दबाजी होगी।” दिल्‍ली पुलिस का यह कदम दिल्‍ली की AAP सरकार और केंद्र की भाजपा नीत सरकार के बीच तनाव को और बढ़ा सकता है।

AAP जब से दिल्‍ली की सत्‍ता में आई है, पिछले दो सालों में पार्टी के 13 विधायकों को गिरफ्तार किया जा चुका है। केजरीवाल लगातार आरोप लगाते रहे हैं कि केंद्र विधायकों को गिरफ्तार कर दिल्‍ली सरकार को काम करने से रोक रही है।

अरविंद केजरीवाल के रिश्तेदार पर करोड़ों के फर्जी बिल देने का आरोप; दिल्ली पुलिस ने दिए जांच के आदेश

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग