December 08, 2016

ताज़ा खबर

 

तकलीफें झेल कर भी जनता प्रधानमंत्री के फैसले के साथ: सतीश उपाध्याय

दिल्ली की सौ फीसद जनता ने जिस तरह अरविंद केजरीवाल के अपील को ठुकराया है उनमें यदि अंश मात्र भी नैतिकता हो तो वह इस्तीफा दें।

Author नई दिल्ली | November 29, 2016 01:53 am
दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतीश उपाध्याय। (पीटीआई फाइल फोटो)

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने सोमवार को एक पत्रकार सम्मेलन में नोटबंदी के बाद देश में मचाए जा रहे सुनियोजित राजनीतिक कोहराम पहचान कर आम आदमी पार्टी सहित विभिन्न राजनीतिक दलों की ओर से बुलाए गए भारत बंद को नकारने के लिए दिल्ली की जनता का आभार जताया। भाजपा ने विशेषकर कमलानगर, लाजपतनगर, लक्ष्मीनगर आदि ऐसे बाजारों के अनके दुकानदारों का धन्यवाद दिया जिन्होंने साप्ताहिक अवकाश के बावजूद सोमवार को दुकान खोल कर कालेधन के विरुद्ध लड़ाई में सहयोग किया। पत्रकारों से बातचीत के दौरान प्रदेश महामंत्री रेखा गुप्ता, मीडिया प्रभारी प्रवीण शंकर कपूर, महिला मोर्चा अध्यक्ष कमलजीत सहरावत और युवा मोर्चा अध्यक्ष नकुल भारद्वाज उपस्थित थे।a
उपाध्याय ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल लगातार कहते रहे हैं कि दिल्ली की जनता ने मुझे 67 सीटों का बहुमत दिया है, यह एक दैवीय करिश्मा है पर आज उनके दिल्ली बंद के आह्वान को दिल्ली की जनता ने सिरे से नकार दिया।

दिल्ली की सौ फीसद जनता ने जिस तरह अरविंद केजरीवाल के अपील को ठुकराया है उनमें यदि अंश मात्र भी नैतिकता हो तो वह इस्तीफा दें। यदि आज दिल्ली में चुनाव कराए जाएं तो शायद केजरीवाल के दल के प्रत्याशियों को अपनी जमानत राशि बचाना भी मुश्किल हो जाए। भाजपा ने कहा है कि आज अखबारवाले, दूधवाले, सब्जीवाले, कामवाली, स्कूल वैनवाले, ई-रिक्शा से लेकर मेट्रो चलानेवाले, पानवाले से लेकर जनरल मर्चेन्ट तक, चाय की दुकान से होटल चलाने वाले तक, छोटी सी दुकान से लेकर सरकारी कार्यालय तक, निजी क्लीनिक के डॉक्टर से लेकर बड़े अस्पतालों तक, जिला न्यायालय से लेकन सुप्रीम कोर्ट तक सभी ने अपना सामान्य कार्य चालू रखा और देश में चल रहे अर्थव्यवस्था के पुनरोत्थान के प्रयास को समर्थन दिया।

उपाध्याय ने कहा कि नोटबंदी के तुरंत बाद अरविंद केजरीवाल ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी के साथ मिलकर इसे राजनीतिक एवं साम्प्रदायिक रंग देकर दिल्ली की जनता को भड़काने का हरसंभव प्रयास किया। केजरीवाल ने बार-बार बैंकों की लाइनों में, फल-सब्जी व्यापारियों की मंडी में, अनाज व्यापारियों में, कपड़ा व्यापारियों में जाकर यह स्थिति बनाने का प्रयास किया।

 

दिल्ली: नोटबंदी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 29, 2016 1:53 am

सबरंग