ताज़ा खबर
 

दिल्ली: रिपोर्ट में खुलासा, ‘आप’ के 70 फ़ीसद विधायक अपेक्षा से कम काम करने वाले

मुंबई के भाजपा, शिवसेना और कांग्रेस विधायकों की तुलना में भी दिल्ली के ‘आप’ विधायक कमतर साबित हुए हैं।
Author नई दिल्ली | October 6, 2016 21:49 pm
आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल। (FIle Photo)

दिल्ली में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (आप) दूसरी राजनीतिक पार्टियों से अलग नहीं है और दिल्ली में इसके 70 फीसदी विधायकों को ‘अपेक्षा से कम’ प्रदर्शन करने वाला पाया गया है। मुंबई के भाजपा, शिवसेना और कांग्रेस विधायकों की तुलना में भी दिल्ली के ‘आप’ विधायक कमतर साबित हुए हैं। साल 2015 में दिल्ली विधानसभा के सत्रों के आंकड़ों से पता चलता है कि राष्ट्रीय राजधानी के करीब 33 फीसदी विधायकों, जिनमें ‘आप’ के सदस्यों की संख्या अच्छी-खासी है, ने चर्चाओं में बमुश्किल हिस्सेदारी की। प्रजा फाउंडेशन की ओर से गुरुवार (6 अक्टूबर) को यहां जारी की गई रिपोर्ट के तहत यह निष्कर्ष सामने आए हैं। इन निष्कर्षों में दावा किया गया है कि सरकार और नगर निगमों को मच्छरों से होने वाली परेशानी और फॉगिंग नहीं किए जाने की 10,102 शिकायतें पिछले साल आईं, लेकिन किसी विधायक ने इस मुद्दे को सदन में नहीं उठाया।

रिपोर्ट में कहा गया, ‘सदन में उठाए गए मुद्दों की गुणवत्ता के मामले में 72 फीसदी विधायक अपेक्षा से कमतर साबित हुए हैं। मुंबई के विधायक इस मामले में कहीं बेहतर काम कर रहे हैं।’ इस रिपोर्ट में ‘आप’ के एस के बग्गा, नितिन त्यागी और भाजपा के जगदीश प्रधान को बेहतरीन काम करने वालों में से बताया गया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और अन्य मंत्रियों को छोड़कर (2015 में) ‘आप’ के विधायकों – स्पीकर, डिप्टी-स्पीकर और दिल्ली कैंट के विधायक सुरिंदर सिंह ने 58.44 फीसदी अंक हासिल किए जबकि भाजपा के तीन विधायकों को 66.04 फीसदी मिले। आरटीआई और एक सर्वेक्षण शोध संगठन की ओर से दिल्ली के 29,950 लोगों के निजी इंटरव्यू के जरिए हासिल किए गए आंकड़ों के आधार पर विधायकों की रेटिंग की गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग