ताज़ा खबर
 

दिल्ली: 66 साल के भगोड़े अपराधी को कोर्ट ने सुनाई 181 साल की सजा

इस शख्स पर 362 लोगों को कई करोड़ रुपये का चूना लगाने का आरोप था, जिसे कोर्ट ने दोषी करार देते हुए 181 साल की सजा सुनाई है।
सांकेतिक तस्वीर

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने एक 66 साल के भगोड़े अपराधी को गिरफ्तार किया है। इस शख्स पर 362 लोगों को कई करोड़ रुपये का चूना लगाने का आरोप था, जिसे कोर्ट ने दोषी करार देते हुए 181 साल की सजा सुनाई है। अपराधी की पहचान राजेंद्र मित्तल के रूप में हुई, जो एक प्रोपर्टी डीलर था। पुलिस ने बताया कि उसने 1994 में पूर्वी दिल्ली के कई प्लॉट फर्जी तौर पर बेचे थे और 362 लोगों को चूना लगाया था। इसमें मित्तल के साथ उसके 6 साथी और भी थे।

पुलिस ने बताया कि मित्तल को 2013 में भगोड़े अपराधी घोषित किया गया था। उसके खिलाफ 19 लोगों ने गवाही दी थी। उसे 1991 में गिरफ्तार किया गया था, लेकिन वह बेल पर बाहर आ गया था। मित्तल को पता लग गया था कि कोर्ट से उसको सजा जरूर मिलेगी, इसलिए वह तभी से फरार हो गया था। तीस हजारी स्थित कंस्यूमर कोर्ट ने 362 लोगों को का पैसा हड़पने के आरोप में मित्तल को छह महीने की सजा सुनाई, लेकिन छह माह की सजा सिर्फ एक पीड़ित के लिए थीष। इस तरह 362 पीड़ितों की सजा 2172 महीने यानी 181 साल की होती है।

वीडियो में देखिए, 5 बच्चों समेत नदी में बह गई मां

Read Also: दिल्ली में नकली सिक्के बनाने की फैक्ट्री का भांडाफोड़, कार से पहुंचाते थे ठिकाने

अदालत ने अपने फैसले में यह साफ भी किया कि पहले छह महीने की सजा पूरी होने के बाद ही दूसरे पीड़ित को चूना लगाने के लिए सुनाई गई सजा शुरू होगी। इस तरह से कंस्यूमर कोर्ट ने दोषी को 181 साल की सजा सुनाई। कंस्यूमर कोर्ट के फैसले को दोषी ने हाई कोर्ट में चुनौती दी। हाई कोर्ट ने भी कंस्यूमर कोर्ट के फैसले को सही ठहराते हुए सजा बरकरार रखी। कोर्ट से राहत न मिलने पर दोषी ने दूसरे केसों की सुनवाई के लिए कोर्ट में पेश होना बंद कर दिया। लगातार कोर्ट से गैर-हाजिर रहने पर उसे 30 जुलाई 2013 को भगोड़ा घोषित कर दिया गया था। वह पुलिस से बचता हुआ घूम रहा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग